मुंबई। बड़े-बड़े चेहरों और बजट वाली फ़िल्मों के बीच इस साल कुछ फ़िल्में ऐसी आयी हैं, जिनमें ना तो कोई सुपरस्टार था और ना ही आसमान छूने वाला बजट, फिर भी इन फ़िल्मों ने अपने दर्शकों को अपनी तरफ़ आकर्षित किया और बॉक्स ऑफ़िस पर एक मिसाल कायम की। 

निर्देशक अमित रवींद्रनाथ शर्मा की बधाई हो ऐसी ही फ़िल्म है, जिसने बिना किसी बड़े चेहरे के सिर्फ़ अपने कंटेंट के दम पर दर्शकों को सिनेमाघरों तक खींचने में कामयाबी हासिल की है। 18 अक्टूबर को आयी फ़िल्म ने 7.29 करोड़ की ओपनिंग ली और 5 दिनों में 51.35 करोड़ का शानदार कलेक्शन कर चुकी है। इस मिडिल क्लास कहानी के किरदार भी बेहद सिंपल और आम लोगों के बीच के हैं। फ़िल्म में आयुष्मान खुराना, सान्या मल्होत्रा, नीना गुप्ता, गजराज राव और सुरेखा सीकरी मुख्य किरदारों में हैं। फ़िल्म को क्रिटिक्स ने भी भरपूर प्यार दिया है।

अंधाधुन

निर्देशक श्रीराम राघवन की अंधाधुन ऐसी ही फ़िल्म है, जिसने बेहद धीमी शुरुआत लेकर 7 दिनों में 27.65 करोड़ की अंधाधुंध कमाई कर ली है। अंधाधुन में कोई सुपरस्टार नहीं है। आयुष्मान खुराना और तब्बू लीड रोल्स में हैं। राधिका आप्टे और अनिल धवन ने सहयोगी किरदार निभाये हैं। मगर वक़्त के साथ फ़िल्म बॉक्स ऑफ़िस पर रंग दिखा रही है। क्रिटिक्स की तारीफ़ें बटोर चुकी अंधाधुन को अब दर्शक भी पसंद कर रहे हैं। इसीलिए 5 अक्टूबर को रिलीज़ सिर्फ़ 2.70 करोड़ की ओपनिंग लेने वाली अंधाधुन ने 15 करोड़ का ओपनिंग वीकेंड किया और अब तक फ़िल्म 50 करोड़ से अधिक जमा कर चुकी है। लगभग 17 करोड़ के बजट में बनी फ़िल्म ने अपनी लागत वसूल कर ली है। 

स्त्री-

राजकुमार राव और श्रद्धा कपूर की फ़िल्म 31 अगस्त को बहुत कम उम्मीदों के साथ रिलीज़ हुई। पहले दिन फ़िल्म ने 6.82 करोड़ की ओपनिंग ली, जो ठीकठाक थी, मगर इसके बाद स्त्री ने ऐसी रफ़्तार पकड़ी कि लगभग 130 करोड़ का कलेक्शन 6 हफ़्तों में कर चुकी है। क़रीब 20 करोड़ में बनी इस फ़िल्म ने मेकर्स को ज़बर्दस्त फ़ायदा पहुंचाया है। स्त्री संतुलित बजट और कसी हुई स्क्रिप्ट की जुगलबंदी की बेहतरीन मिसाल है। ध्यान रहे,  अमर कौशिक के निर्देशन में बनी इस फ़िल्म में भी कोई सुपरस्टार चेहरा नहीं था।

राज़ी-

मेघना गुलज़ार निर्देशन में बनी राज़ी 2018 की बड़ी सफलताओं में गिनी जाएगी। एक सच्ची घटना से प्रेरित इस पीरियड फ़िल्म ने 7.53 करोड़ की ओपनिंग ली और 123.17 करोड़ का बिज़नेस किया। फ़िल्म में आलिया भट्ट और विक्की कौशल ने मुख्य किरदार निभाये थे। हालांकि फ़िल्म आलिया के किरदार के इर्द-गिर्द ही घूमती है। इसीलिए इसकी कामयाबी का बड़ा श्रेय आलिया के हिस्से ही गया। 

सोनू के टीटू की स्वीटी-

लव रंजन निर्देशित इस फ़िल्म ने 108.71 करोड़ का कलेक्शन किया, जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी। फ़िल्म की मुख्य स्टार कास्ट में कार्तिक आर्यन, सनी सिंह निज्जर और नुसरत भरूचा शामिल थे। प्यार का पंचनामा सीरीज़ की लोकप्रियता के चलते इतनी उम्मीद की गयी थी कि फ़िल्म ठीकठाक चलेगी, मगर 100 करोड़ का आंकड़ा पार कर जाएगी, यह किसी ने नहीं सोचा था। फ़िल्म ने 6.42 करोड़ की ओपनिंग ली थी और इतनी ओपनिंग लेने वाली फ़िल्मों का 100 करोड़ क्लब तक पहुंचना थोड़ा मुश्किल समझा जाता है।

हिचकी-

प्रदीप सरकार निर्देशित हिचकी में रानी मुखर्जी ने एक स्पेशल सिंड्रोम की शिकार टीचर का रोल प्ले किया। रानी बेहतरीन अदाकारा हैं और इस मुश्किल किरदार को निभाने में उन्होंने कोई हिचकी नहीं ली। नतीजा यह हुआ कि 46.17 करोड़ का कलेक्शन करके फ़िल्म हिट हो गयी। इस फ़िल्म का बजट भी बहुत ज़्यादा नहीं था, क्योंकि रानी की यह होम प्रोडक्शन फ़िल्म है। अब बधाई हो और हेलीकॉप्टर ईला ऐसी फ़िल्में हैं, जिनसे ऐसे ही करिश्मे की उम्मीद है। उधर हिचकी अब चीन में भी कमाल कर रही है, जहां पहले हफ़्ते में ही फ़िल्म ने 54 करोड़ का कलेक्शन कर लिया है। (बॉक्स ऑफ़िस कलेक्शन के सभी आंकड़े रुपये में हैं)

Posted By: Manoj Vashisth