नई दिल्ली। बॉलीवुड सुपरस्टार अमिताभ बच्चन, इस नाम को बनाने में सालों लग गए लेकिन 11 मई साल 1973 के बाद अमिताभ बच्चन की किस्मत बदल गई। इस दिन बॉक्स ऑफिस पर जंजीर फिल्म रिलीज हुई जिसे हाल ही में 40 वर्ष भी पूरे हो गए। इस मौके पर अमिताभ ने कहा था कि फिल्म 'जंजीर' के बाद उनकी किस्मत बदल गई थी। उनके चाहने वालों की लिस्ट इस कदर बढ़ गई थी कि अमिताभ सोच में पड़ गए कि क्या लोग एक अभिनेता को इस कदर भी प्यार दे सकते हैं।

पढ़ें : जब रेखा से टकराए बिग बी

फिल्म जंजीर में मौका अमिताभ बच्च्न को राजकुमार के इनकार के कारण मिला था। राजकुमार का एक इनकार अमिताभ बच्च्न की जिंदगी में शोहरत का तोहफा लेकर आया। यदि उस समय राजकुमार ने इनकार ना किया होता तो आज अमिताभ बच्च्न बॉलीवुड के सुपरस्टार ना होते। अमिताभ बच्च्न के फिल्मी कॅरियर की सबसे बड़ी फिल्में 'शोले' और 'जंजीर' मानी जाती हैं पर क्या आप बिना उनके इन फिल्मों की कल्पना भी कर सकते हैं। सोचिए जरा यदि फिल्म शोले और जंजीर में अमिताभ बच्च्न नहीं होते तो उनके बदले कौन होता? पर यह सोचने से पहले आपको यह बता देना जरूरी है कि इन दोनों फिल्मों में अमिताभ बच्च्न को लेना सिर्फ निर्देशक की मजबूरी थी।

पढ़ें : इन्होंने भी लगाया था रेखा से दिल, फिर छोड़ा तन्हा

फिल्म शोले का नाम लेते ही कुछ ऐसे चेहरे सामने आते हैं जिन्हें कभी भी भुला पाना संभव नहीं है। अमिताभ बच्चच्, धमर्ेंद्र, और अमजद खान ऐसे अभिनेता हैं जिनके अभिनय से फिल्म शोले सिनेमा जगत में इतिहास रच पाई है पर यह स्टार निर्देशक रमेश सिप्पी की पहली पसंद नहीं थे। फिल्म शोले में 'जय' के किरदार को निभाने के लिए निर्देशक रमेश सिप्पी की पहली पसंद शत्रुघ्न सिन्हा थे। शत्रुघ्न सिन्हा ने फिल्म शोले में जय के रोल को निभाने से मना कर दिया तब जाकर यह रोल अमिताभ बच्चच् को मिला।

पढ़ें : अब 'बिग बी' के गाने पर थिरकेंगे रणबीर

अमिताभ बच्चनच्के फिल्मी कॅरियर की सबसे सुपरहिट फिल्म 'जंजीर' मानी जाती है पर आपको यह जानकर हैरानी होगी कि निर्देशक प्रकाश मेहरा के लिए अमिताभ बच्चनच्पहली नहीं बल्कि पांचवी पसंद थे। अमिताभ ने जंजीर फिल्म में इंस्पेक्टर विजय श्रीवास्तव नाम का किरदार निभाया था जिसे राजकुमार को निभाना था पर उन्होंने किसी कारणवश फिल्म जंजीर को ठुकरा दिया। देव आंनद, धर्मेद्र और राजेश खन्ना ने भी जंजीर फिल्म को साइन करने से मना कर दिया उसके बाद अमिताभ बच्चनच्को इस फिल्म के लिए साइन किया गया।

पढ़ें : कपिल शर्मा ने बिग बी को पछाड़ा

अमिताभ बच्चन च्ी फिल्मी दुनिया का सफर बस इतना ही नहीं है। अमिताभ बच्चन च्ी पहली सुपरहिट फिल्म 'जंजीर' बनी और यहीं से वो 'एंग्री यंगमैन' की भूमिका में स्थापित हुए। इसी फिल्म में अमिताभ ने विजय नाम का किरदार निभाया था जो कि बाद में 18 फिल्मों तक उनके साथ रहा। अर्थात 18 अन्य फिल्मों में अमिताभ ने 'विजय' नाम का किरदार निभाया।

'विजय' नाम के साथ-साथ अमिताभ बच्चन चे 'अमित' नाम के साथ भी एक लगाव था जिस कारण उन्होंने अपनी दस फिल्मों में अमित नाम का किरदार निभाया। अमिताभ बच्चन च्े लगभग 12 फिल्मों में डबल रोल किया जबकि एक फिल्म निर्देशक एस. रामानाथन की 'महान' में उन्होंने ट्रिपल रोल निभाया। एक पुरानी कहावत है कि मंजिल तक पहुंचने के लिए जिंदगी में संघर्ष करना पड़ता है। इसी कहावत को अमिताभ बच्चन च्े अपनी जिंदगी में आजमाया। फिल्म 'कुली' की शूटिंग के दौरान फिल्म में खलनायक की भूमिका निभा रहे पुनीत इस्सर के हाथों घूंसा खाकर घायल होने के बाद अमिताभ बच्चन च्ेहद गंभीर स्थिति में मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराए गए थे। वो एक ऐसा समय था जब अमिताभ बच्चन च्जंदगी और मौत से लड़ रहे थे। उन दिनों रोजाना ब्रीच कैंडी अस्पताल से सिद्धि विनायक मंदिर तक जया बच्चन च्ैदल जाया करती थीं जब कि दोनों स्थानों के बीच की दूरी लगभग छह किलोमीटर है।

आज अमिताभ बच्चन च्ी फिल्मी दुनिया से जुड़ी खास बातों को इसलिए याद किया गया क्योंकि आज 11 अक्टूबर, 2013 को वो 71 वर्ष के हो गए हैं। अमिताभ बच्चन चे हिन्दी सिनेमा ने ही 'बॉलीवुड सुपरस्टार अमिताभ बच्चन'च्बनाया इसलिए ऐसे में उनसे जुड़ी खास फिल्मी दुनिया की बातों को याद किया गया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट