मुंबई। अगर आपको लग रहा है कि रेखा वह अभिनेत्री हैं जो सबसे ज्यादा बार अमिताभ बच्चन की हीरोइन बनी हैं तो आप गलत हो सकते हैं। इसमें कतई दो राह नहीं है कि अमिताभ और रेखा की जोड़ी कई फिल्मों में नजर आई है और इस सदाबहार जोड़ी ने दर्शकों का खूब मनोरंजन किया। मगर, वह अभिनेत्री रेखा नहीं हैं जो सबसे ज्यादा बार अमिताभ की हीरोइन बनी हों। वो कौन हैं जिनके साथ अमिताभ ने सबसे ज्यादा बार काम किया है तो आइए आपको बिग बी के 76वें जन्मदिन के मौके पर बताते हैं -  

बच्चन ने चार दशक से भी लंबे सिनेमा सफ़र में हर दौर की लगभग सभी फीमेल एक्ट्रेस ने जोड़ी बनाई है लेकिन सदाबहार जोड़ीदार सिर्फ अमिताभ और रेखा ही रहे। अमिताभ बच्चन की जोड़ी हर किसी के साथ जमी है फिर वो चाहे उम्र में बच्चन से बड़ी हों , हमउम्र हों या छोटी। परदे पर अमिताभ जब 'एंग्री यंग मैन' रहे तब भी पेड़ों के इर्द-गिर्द घूम कर गाने गाये और तब भी जब उनकी उम्र- ' बुड्ढा होगा तेरा बाप ' कहने की हो गई। अमिताभ बच्चन के साथ उनके परदे की महबूबाओं का जिक्र किया जाय तो बिना रेखा के ना शुरुआत होगी और ना ही अंत। निजी जीवन के प्रेम के सिलसिले को छोड़ भी दिया जाय तो ये जोड़ी आज भी बॉलीवुड की नंबर वन जोड़ी मानी जाती है। बच्चन और रेखा ने कुल आठ फिल्मो में साथ काम किया था। ये फ़िल्मी सफ़र 1973 में आई हृषिकेश मुखर्जी की फिल्म 'नमक हराम' से शुरू हुआ था। उसके तीन साल बाद बांग्ला उपन्यास पर बनी....दो अनजाने..आई, जिसमे रेखा अमिताभ की महत्वकांक्षी बीबी बनी थीं। ' दो अनजाने ' से इन दोनों के बीच का अनजानेपन का फासला ख़त्म हुआ। दोनों ने ' खून पसीना ' और ' गंगा की सौगंध ' में भी साथ काम किया। फिर 'मिस्टर नटवरलाल' , 'सुहाग', और 'मुकद्दर का सिकंदर' तक आते आते ये जोड़ी सबसे फेवरिट हो गई थी। आखिरी बार 1981 में यश चोपड़ा की फिल्म 'सिलसिला' में अमिताभ और रेखा साथ दिखे। उस दौर में दोनों की नजदीकियों की खबरों का तूफ़ान इतना तेज़ था कि अमिताभ चाह कर भी रेखा के साथ स्क्रीन शेयर नहीं कर सकते थे।

लेकिन अमिताभ बच्चन ने अगर सही मायनों में किसी के साथ लम्बी पारी खेली है तो वो हैं हेमा मालिनी। बच्चन ने हेमा मालिनी के साथ पहली बार 'गहरी चाल' में स्क्रीन शेयर की। शुरू में हेमा ने बिग बी की 'शोले' सहित कई फिल्मो में काम किया लेकिन 'कसौटी', 'नसीब' , 'सत्ते पे सत्ता' , 'देश प्रेमी' और 'नास्तिक' में दोनों की जोड़ी जबरदस्त रही। इस जोड़ी की कामयाबी का असर ये था कि पिछले दस साल में दोनों ने 'वीर जारा' , बागबां' , 'बाबुल' , 'बुड्ढा होगा तेरा बाप' और 'आरक्षण' में साथ काम किया।

अस्सी के दशक में बिग बी ने राखी गुलज़ार के साथ भी सफल जोड़ी बनाई थी। 'त्रिशूल' , 'कसमे वादे' और 'बरसात की एक रात' में दो इमेजेस का बैलेंस दिखा। एक तरफ आक्रोश में धधकता नौजवान तो दूसरी ओर उसके जख्मों पर प्यार का मलहम लगाती राखी की वो सादगी। और इसी जोड़ी ने हिदी सिनेमा में रूमानियत का एक नया अद्ध्याय भी लिखा था, फिल्म..कभी कभी' के लिए जिसकी ' मैं और मेरी तन्हाइयां...' आज भी कोई नहीं भुला पाया है।

परवीन और बिग बी

रेखा के अलावा बच्चन के कद के बराबर पहुंचने वाली हिरोइन परवीन बाबी और बिग बी के साथ उनकी केमिस्ट्री का अपना अलग ही मिजाज रहा। 'मजबूर' , 'दीवार', 'अमर अकबर अन्थोनी' और 'दो और दो पांच' जैसी फिल्मो में इस जोड़ी ने कमाल दिखाया वो बच्चन की 12 फिल्मो में नज़र आईं और इस जोड़ी के ऑफस्क्रीन रिश्तों का भी उस ज़माने में खूब ख़बरनामा रहा। खूबसूरत और बोल्ड जीनत अमान के साथ भी बच्चन की जोड़ी खूब जमी। 'डॉन ' , 'दोस्ताना' और 'लावारिस' जैसी फ़िल्में मिसाल है। और फिर 'पुकार' का वो समंदर में रोमांस करने का अंदाज हो या इटली में दो लफ्जो में कहानी सुनाता ये जोड़ा ,जीनत संग बच्चन अलग ही रंग में दिखे।

लव एट फर्स्ट साइट

परदे की नायिकाओं की बात हो तो बिग बी की असल जिन्दगी की नायिका जया को कैसे भुला जा सकता है। अमिताभ का जया भादुड़ी के साथ फ़िल्मी दोस्ताना 'बंसी बिरजू' और 'जंजीर' के समय से रहा जिसके बाद 'चुपके चुपके' और 'अभिमान' जैसी फिल्मो में भी दोनों की सादगी भरी कलाकारी देखने मिली. जया ने बच्चन के साथ 2001 में 'कभी ख़ुशी कभी ग़म' में काम किया और बाद में भोजपुरी की फिल्म ' गंगा' में भी। जया भादुड़ी ने पुणे के फिल्म इंस्टीट्यूट में पहली बार बच्चन को देखा था और उन्हें ' लव एट फर्स्ट साइट ' हो गया। दोनों बाद में ' गुड्डी' के सेट पर मिले और सिलसिला बनता गया। 

अमिताभ बच्चन ने वहीदा रहमान से लेकर नूतन ,अरुणा इरानी से लेकर डिम्पल कपाडिया तक के साथ जोड़ी बनाई। साऊथ की हिरोइनों के साथ परदे पर रोमांस का नया रंग बिखेरा।फिर वो चाहे जया प्रदा हो या श्री देवी। बिग बी ने 'मर्द' में अमृता सिंह और 'अग्निपथ' में माधवी के साथ भी केमिस्ट्री जमाई। किमी काटकर के साथ ' हम' का वो जुम्मा-चुम्मा आज भी सबकी जुबान पर है। समय भले ही बदलता रहा ,उम्र बढती रही और रोल भी बदलने लगे लेकिन बच्चन परदे पर हमेशा हिरोइनों के साथ एक नई ताजगी के साथ दिखे। फिल्म 'नमक हलाल' में स्मिता पाटिल के साथ शहंशाह का यूँ बारिश में रपट जाना हो या साल 2007 में 65 साल की उम्र में अपने से करीब 47 साल छोटी जिया खान के साथ " निशब्द" में पानी में वो अटखेलियां, हर रोल को बच्चन ने अपने हिसाब का बना लिया।

ब्लैक' की रानी मुखर्जी हो या 'चीनी कम' की तब्बू , बच्चन के लिए इनके साथ ऑन-स्क्रीन किस करना भी किसी ऐतिहासिक घटना से कम नहीं रहा। बड़े परदे पर जोड़ी बनाने के अलावा बच्चन का लगभग हर अभिनेत्री के साथ का करने का रिकार्ड रहा है। उम्र के इस पड़ाव में भी वो हर फिल्म के साथ नई फीमेल स्टार कास्ट के साथ काम कर रहे हैं जिनमे हाल में तापसी पन्नू और कीर्ति कुल्हरी का भी नाम शामिल हो गया।

यह भी पढ़ें: Bachchan Birthday: आर्थिक तंगी भी नहीं तोड़ पाई थी बच्चन को, ऐसे उठ खड़ा हुआ शहंशाह

यह भी पढ़ें: अमिताभ का 'अग्निपथ' : जब मौत को भी मात दे गया महानायक

Posted By: Rahul soni