नई दिल्ली, जेएनएन। बॉलीवुड एक्टर अमिताभ बच्चन कोरोना वायरस से जंग जीतकर घर आ गए हैं। दरअसल, अमिताभ बच्चन और उनका परिवार भी कोरोना वायरस की चपेट में आ गया था, जिसके बाद उनका मुंबई के नानावटी अस्पताल में इलाज चल रहा है। इसके बाद सोशल मीडिया पर कुछ लोग आरोप लगा रहे हैं कि अमिताभ बच्चन नानावटी अस्पताल का विज्ञापन कर रहे हैं। कई लोगों ने अमिताभ बच्चन से ट्विटर पर भी पूछा है। इसी बीच, एक यूजर ने अमिताभ बच्चन पर ना सिर्फ नानावटी अस्पताल के विज्ञापन का आरोप लगाया जबकि कहा कि अब बिग बी की इज्जत कम हो गई है।

खास बात ये है कि इस यूजर का अमिताभ बच्चन ने जवाब भी दिया है और जनता के सामने अपना पक्ष रखा है। अमिताभ बच्चन ने अपने लेटेस्ट ब्लॉग में बताया है कि यूजर ने क्या कहा और अमिताभ बच्चन ने इसका क्या जवाब दिया है। सोशल मीडिया पर चल रही इस बहस के बीच एक यूजर ने पहले तो अस्पताल पर आरोप लगाए कि अस्पताल ने उनके पिता का गलत टेस्ट किया है।

साथ ही उन्होंने अमिताभ बच्चन को कहा, ' मिस्टर अमिताभ, वास्तव में यह बहुत दुख की बात है कि आप अस्पताल का विज्ञापन कर रहे हैं, जो मानव जीवन की परवाह नहीं करता है और केवल पैसा कमाना चाहता है... क्षमा करें, लेकिन आपका सम्मान पूरी तरह से खो दिया है।' इस पर अमिताभ बच्चन ने यूजर को जवाब दिया है। अमिताभ बच्चन ने अपने जवाब में लिखा- 'मुझे आपके प्यारे और सम्मानित पिता के बारे में जानकर और उनकी समस्याओं के बारे में जानकर वास्तव में खेद है।'

साथ ही उन्होंने कहा, 'मैं कम उम्र से ही अस्पतालों में जा रहा हूं। चिकित्सा पेशे में एक निश्चित आचार संहिता है और मैंने देखा है कि डॉक्टर्स के विशेषज्ञ, प्रबंधन, नर्स रोगी की देखभाल में लगे रहते हैं।' साथ ही उन्होंने कहा, 'नहीं... मैं अस्पताल के लिए विज्ञापन नहीं करता, मैं नानावती से मिलने वाली देखभाल और उपचार के लिए शुक्रिया अदा करना चाहता हूं और मैंने हर अस्पताल के लिए किया है जिसने मुझे भर्ती किया है और यह करता रहुंगा। आपने मेरे लिए सम्मान खो दिया है, लेकिन मैं आपको बता दूं कि मैं अपने देश के चिकित्सा पेशेवरों और डॉक्टरों के लिए सम्मान कभी नहीं खोऊंगा।' 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस