अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। अक्षय कुमार अपनी फिल्म पैड मैन को लेकर लगातार इन दिनों प्रोमोशन कर रहे हैं और वह लगातार इस बात पर जोर देर रहे हैं कि महिलाओं से अधिक पुरुषों को जागरूक करने की आवश्यकता है।

खुद अक्षय ने एक प्रोमोशनल इवेंट के दौरान ईमानदारी से स्वीकारा है कि इस फिल्म की शूटिंग के दौरान जब उन्हें पिंक अंडरगार्मेंट में पैड लगा कर पैंट पहनने वाला सीन करने के लिए कहा गया तो वह थोड़ी देर के लिए सोच में पड़ गया था कि कैसे करूंगा। इसे कैसे पहना जाता है. लेकिन वो आर बाल्की से सहमत से थे कि यह जरूरी सीन है। सो, मैंने किया और मुझे खुशी है कि ये सीन मैं निभा पाया हूं ठीक से। अक्षय ने बताया कि उनकी पैड मैन हिट हो चुकी है। वह ऐसा इसलिए मान रहे हैं, क्योंकि पुरुषों ने इसके बारे में बातचीत शुरू कर दी है। इसलिए उन्हें अब बॉक्स आॅफिस के कलेक्शन से कोई खास प्रभाव नहीं पड़ेगा। सोच बदली है तो यह खुशी की बात है।

अक्षय ने बताया कि जब वह गांव में शूट कर रहे थे तो वहां के जूनियर पुरुष आर्टिस्ट को जब यह कहा गया कि सैनिटरी पैड हाथ में पकड़ना है तो वह भाग खड़े हुए। उन्होंने कहा कि सैनिटरी पैड हाथ में नहीं लेंगे। ये हमारे लिए पाप है। अक्षय कहते हैं कि यही सोच बदलना चाहता हूं। आगे अक्षय बताते हैं कि मेरी वैनिटी के सामने मैंने चार लड़कों को इसके बारे में बात करते सुना तो मुझे अच्छा लगा कि वह इस बारे में जानना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें: रिलीज़ से पहले और बिना 300 करोड़ कमाए ही एेसे हिट हो गई अक्षय कुमार की पैड मैन

अरुणाचलम, जिन पर यह कहानी आधारित है, उनके बारे में अक्षय ने कहा कि उन्होंने सबसे पहले खुद पैड पहन कर देखा था। फिर इसे अप्रूव किया था और आज भी दिवाली में वह जब अपने खास दोस्तों को हैंपर देते हैं तो उसमें सैनिटरी पैड्स के भी पैकेट्स होते हैं। अक्षय कुमार की फिल्म पैड मैन 25 जनवरी को रिलीज होगी।

By Manoj Khadilkar