नई दिल्ली, जेएनएन। पिछले साल MeToo की चपेट में कई बॉलीवुड हस्तियां भी आ गई थीं और कई अभिनेताओं पर आरोप लगाए गए थे। अब बॉलीवुड अभिनेता अजय देवगन ने इस कैंपेन को लेकर अपना पक्ष रखा है। एक इंटरव्यू में जब अजय देवगन से पूछा गया कि क्या यौन उत्पीड़न के आरोपियों के साथ काम करना सही है? तो एक्टर ने जवाब में कहा, 'किसी भी आरोपी और दोषी में बहुत बड़ा अंतर होता है।'

अजय देवगन ने यह भी कहा, 'उस शख्स के साथ काम करना ठीक नहीं है, जो किसी मामले में दोषी करार दिया गया है। हालांकि, जिनपर अभी तक फैसला नहीं आया है, हम उनके साथ भेदभाव नहीं कर सकते हैं। उनके परिवार का क्या होगा?' देवगन ने बताया, 'मैं एक आरोपी को जानता हूं, जिनकी बेटी को इतना आघात पहुंचा था कि उन्होंने खाना और स्कूल जाना भी छोड़ दिया था।'

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Hogayi @dedepyaarde Release, Ab Toh Chup Hojao Dono!⁣ ⁣ Book tickets for the movie now, link in bio.⁣ ⁣ @tabutiful @rakulpreet #AkivAli ⁣ @tseries.official @luv_films #BhushanKumar #LuvRanjan @gargankur82

A post shared by Ajay Devgn (@ajaydevgn) on

दरअसल अजय देवगन से इस तरह के सवाल इसलिए पूछे जा रहे हैं क्योंकि फिल्म 'दे दे प्यार दे' में आलोक नाथ के साथ काम करने पर अजय देवगन को निशाने पर लिया गया था। बता दें कि आलोक नाथ भी यौन उत्पीड़न और दुष्कर्म के मामलों में आरोपी हैं।

 

 

 

 

View this post on Instagram

 

 

 

 

 

 

 

 

 

#DilRoyiJaye out now. Link in bio.⁣ ⁣ @tabutiful @rakulpreet #AkivAli @dedepyaarde⁣ @arijitsingh @rochakkohli @kumaarofficial⁣ @tseries.official @luv_films #BhushanKumar #LuvRanjan @gargankur82

A post shared by Ajay Devgn (@ajaydevgn) on

हालांकि जिस वक्त अजय देवगन पर सवाल उठ रहे थे, तभी देवगन ने अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा था कि आलोक नाथ से साथ अगस्त में शूटिंग हो गई थी और उस वक्त उनपर कोई आरोप नहीं थे। बता दें कि मीटू कैंपेन के दौरान आलोक नाथ समेत साजिद खान, नाना पाटेकर, विकास बहल समेत कई लोगों पर आरोप लगाए गए थे। 

Posted By: Mohit Pareek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप