प्रियंका सिंह, मुंबई। पांच कहानियों को मिलाकर बनाई गई वेब सीरीज ‘अनपाज्ड- नया सफर’ पहले सीजन की ही तरह कोविड-19 की वजह से जीवन में आए बदलावों की कहानी बयां करेगी। 21 जनवरी को अमेजन प्राइम वीडियो पर स्ट्रीमिंग के लिए उपलब्ध होने वाली इस सीरीज की कहानी ‘गोंद के लड्डू’ में अभिनेत्री नीना कुलकर्णी एक ऐसी मां की भूमिका में हैं, जो दूर रह रही बेटी के लिए गोंद का लड्डू बनाकर भेजना चाहती है।

डिजिटल प्लेटफार्म पर कलाकारों को उम्र की सीमा में नहीं बांधा जा रहा है। यह बात कितना सुकून दे रही है? इसके उत्तर में नीना कहती हैं, ‘मैंने ‘ब्रीद’ के पहले सीजन में आर माधवन की मां का रोल किया था। उसके बाद कुछ भी पसंद नहीं आया। मैं टेलीविजन, मराठी और हिंदी फिल्में कर रही थी। मेरे लिए बड़ी-छोटी कहानी और माध्यम मायने नहीं रखता है। मैं इतने सालों से काम कर रही हूं, ऐसे में कहानी में कुछ तो दिलचस्प लगना चाहिए। टेलीविजन के दर्शक और उनकी मांगें अलग होती हैं। मैंने कई शार्ट फिल्में की हैं, उसी तरह डिजिटल प्लेटफार्म की दुनिया भी खूबसूरत लग रही है।

गोंद का लड्डू कहानी में किस चीज ने सबसे ज्यादा आकर्षित किया? इस पर नीना कहती हैं, ‘मैं मां हूं, तभी इस विषय से जुड़ पाई। गोंद के लड्डू का जिक्र होते ही मां और घरवालों की याद आती है। यह गर्माहट और प्यारभरा शीर्षक है। यह कहानी सिर्फ मेरे किरदार की नहीं, बल्कि डिलीवरी ब्वाय और उसकी पत्नी की भी है। उनकी अहमियत को रेखांकित करती है यह कहानी।’

नीना इस बात से इत्तेफाक रखती हैं कि एक्टिंग का मतलब फेमस होना नहीं है। इस संबंध में वह कहती हैं, ‘एक एक्टर के लिए कभी कोई चीज न बंद होती है, न ही वह रिटायर होता है। मैं भी अपने मिजाज के काम के साथ आगे बढ़ रही हूं। मिडिल क्लास एक्ट्रेस हूं। आज भी अपनी जड़ों से जुड़ी हूं।’

Edited By: Vaishali Chandra