नई दिल्ली, जेएनएन। साल 2020 ने हिंदी सिनेमा के एक और दिग्गज कलाकार को हमसे छीन लिया है। लीजेंडरी एक्टर जगदीप ने 8 मई को इस दुनिया को अलविदा कह दिया। जगदीप ने अपने लगभग साठ साल के करियर कलाकारों की कई पीढ़ियों के साथ काम किया। अमिताभ बच्चन के साथ भी उन्होंने हिंदी सिनेमा की कुछ शानदार फ़िल्मों में स्क्रीन स्पेस शेयर किया। बिग बी ने अपने ब्लॉग में जगदीप को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी। 

अमिताभ बच्चन ने लिखा- बीती रात हमने एक और नगीना खो दिया। जगदीप... कॉमेडी में अद्भुत काबिलियत रखने वाले, गुज़र गये। अदाकारी का उनका विलक्षण अंदाज़ था। मुझे कई फ़िल्मों में उनके साथ काम करने का सम्मान हासिल हुआ। दर्शकों की नज़रों में जो प्रमुख हैं, उनमें शोले और शहंशाह शामिल हैं। अमिताभ आगे लिखते हैं कि वो एक विनम्र शख़्सियत थे, जिन्हें लाखों लोगों का प्यार मिला। मेरी दुआएं और प्रार्थनाएं उनके लिए।

जगदीप का असली नाम सैयद इश्तियाक जाफरी था। अमिताभ इस बारे में लिखते हैं- जगदीप, स्क्रीन नाम अपनाना बेहद गरिमाशाली बात थी, जो इस देश की विभिन्नता में एकता की भावना को ज़ाहिर करता है। उस दौर में कई लोगों ने ऐसा किया था... विशेष शख़्सियत दिलीप कुमार, मधुबाला, मीना कुमारी, जयंत (अमजद ख़ान के पिता) और भी बहुत सारे...

अमिताभ बच्चन ने 1988 में आयी जगदीप की डायरेक्टोरियल फ़िल्म सूरमा भोपामी में गेस्ट अपीयरेंस भी किया था। जगदीप का निधन 81 साल का उम्र में 8 जुलाई को हुआ। उन्हें 9 जुलाई को सुपुर्दे ख़ाक किया गया। जगदीप ने अपने करियर में 400 से अधिक फ़िल्में कीं। उन्होंने बीआर चोपड़ा की फ़िल्म अफसाना से बतौर बाल कलाकार करियर शुरू किया था। इनमेें दो बीघा ज़मीन, आर पार, खिलौना और तीन बहूरानियां जैसी फ़िल्में शामिल हैं। 

जगदीप को सिनेमा के कॉमिक आइकॉन्स की परम्परा में जॉनी वॉकर और महमूद के बाद आख़िरी माना जाता है। जगदीप ने नब्बे के दशक में भी अंदाज़ अपना अपना जैसी फ़िल्मों में बेहतरीन रोल निभाये।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस