नई दिल्ली, एएनआइ। बंगाल में विधानसभा चुनाव के बीच गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को शांतिपुर में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि 2 मई के बाद जब बंगाल में मोदी जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार बनेगी, ये चुनावी हिंसा, राजनीतिक हिंसा हमेशा के लिए बंगाल को छोड़कर चली जाएगी। बंगाल की जनता से मेरा करबद्ध निवेदन है कि बाकी के मतदान चरणों में शांतिपूर्ण ढंग से लोकतंत्र के उत्सव को मनाएं, मतदान करें, अपने पसंदीदा प्रत्याशी को जिताएं।बंगाल में शांतिपूर्ण चुनाव का एक नया इतिहास रचने का काम करें।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पर जमकर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि चुनाव के चौथे चरण में कल एक दुखद घटना हुई। जिस प्रकार से इस घटना का राजनीतिकरण किया जा रहा है ये बहुत दुखद है। मैंने ममता दीदी के बयान देखे हैं, उसी बूथ पर सुबह आनंद बर्मन की गुंडों द्वारा हत्या कर दी गई ताकि वहां पर मतदान न हो और CISF के हथियार लूटने की कोशिश की गई। 

शहा ने कहा कि ममता दीदी सिर्फ चार लोगों को श्रद्धांजलि देती हैं, उनको आनंद बर्मन की मौत की नहीं पड़ी है। मृत्य में भी तुष्टिकरण और वोट की राजनीति करना, ममता दीदी ने बंगाल की राजनीति को कितना नीचे​ गिराया है, ये इसका एक उदाहरण है। उन्होंने कहा कि सीतलकुची सीट पर ममता दीदी ने कुछ दिन पहले भाषण दिया था कि CAPF वाले आए तो उन्हें घेर लो, उन पर हमला करो। मैं ममता दीदी से पूछना चाहता हूं कि क्या आपका वो भाषण उन 4 लोगों की मौत का जिम्मेदार नहीं है? 

पश्चिम बंगाल में 17 अप्रैल को पांचवें चरण में 45 विधानसभा क्षेत्रों पर मतदान होगा। इसके बाद 22 अप्रैल को 43 सीटों के लिए छठे चरण का मतदान होगा। 26 अप्रैल को सातवें चरण के लिए 35 सीटों पर वोट डाले जाएंगे और 29 अप्रैल को आठवें और अंतिम दौर में 35 विधानसभा सीटों पर मतदान होगा। चुनाव आयोग 2 मई को परिणाम घोषित करेगा।

Edited By: Manish Pandey