कोलकाता, राज्य ब्यूरो। कोलकाता में एक निजी टीवी चैनल को दिए गए साक्षात्कार में मशहूर फिल्म अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस में शामिल होना उनका गलत फैसला था। बंगाल में मुख्यमंत्री का चेहरा बनने के सवाल पर मशहूर उन्होंने कहा कि अभी तो पिक्चर शुरू हुई है, पूरी फिल्म बाकी है। एक मिनट में फिल्म खत्म नहीं होती। 

बंगाल में क्या अब दादा बनाम दीदी की लड़ाई शुरू होगी के सवाल पर मिथुन ने कहा कि अभी तो शुरुआत है। यह बताना भी मुश्किल है। भविष्य में कुछ भी मुमकिन है। भाजपा नेता सुवेंदु अधिकारी के लिए नंदीग्राम में प्रचार करने के सवाल पर कहा कि अगर सुवेंदु उन्हें प्रचार के लिए कहते हैं तो वह अवश्य जाएंगे। 

मिथुन ने कहा कि उन्होंने अपने लिए कभी कुछ नहीं मांगा। हमेशा दूसरों की मदद के लिए मांगा। बंगाल में एक फ्लैट के अलावा मेरा कुछ भी नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा में एक उम्मीद की किरण दिख रही है और वह पार्टी लाइन पर ही कार्य करेंगे। दलबदलू के सवाल पर उन्होंने कहा कि अगर मैं पलटीबाज हूं तो दूसरे क्या हैं।

पानी के सांप नहीं बल्कि खतरनाक कोबरा हैं 

कोलकाता में ऐतिहासिक ब्रिगेड रैली में भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय एवं प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने मिथुन को पार्टी का झंडा देकर स्वागत किया। उन्होंने कहा कि वह पानी के सांप नहीं बल्कि खतरनाक कोबरा हैं। उन्होंने अपना मशहूर डायलॉग भी दोहराया और कहा कि मारेंगे यहां लाश गिरेगी श्मशान में।

उन्होंने कहा कि बंगाल में रहने वाला हर शख्‍स बंगाली है। मशहूर फिल्म अभिनेता ने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के सबसे बड़े नेता प्रधानमंत्री मोदी यहां पहुंचेंगे, यह सपना नहीं तो क्या है। मैं बंगाली हूं और मुझे गर्व है कि मैं बंगाली हूं। आपका हक जो छीनने की कोशिश करेगा, उसके सामने हम खड़े हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि सच्चे दिल से जो कोई भी सपना देखता है, उसका सपना सच्चा होता है। मैं भी 18 साल की उम्र में सपना देखा था कि गरीबों की सहायता करूंगा। मेरा वह सपना भी सच हो गया। 

Edited By: Arun kumar Singh