कोलकाता, एजेंसियां। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद आज पीएम मोदी ने पहली बार चुनावी रैली की। पीएम मोदी ने कोलकाता के ब्रिगेड मैदान में चुनावी शंखनाद के दौरान टीएमसी प्रमुख व सीएम ममता बनर्जी जमकर हमलावर हुए। पीएम मोदी ने खुले मंच से एलान करते हुए कहा कि बंगाल में इस बार खेला होबे। उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य सिर्फ पश्चिम बंगाल में सत्ता का परिवर्तन करना ही नहीं है। हम बंगाल की राजनीति को विकास केंद्रित करना चाहते हैं। इसलिए हम यहां असली परिवर्तन की बात कर रहे हैं। आइये जानते हैं पीएम मोदी की ऐसी ही वो बड़ी बातें जो उन्होंने कोलकाता के ब्रिगेड मैदान से की हैं।

  • सूबे की मुखिया ममता बनर्जी पर हमलावर होते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बंगाल ने परिवर्तन के लिए ही दीदी पर भरोसा किया था। लेकिन दीदी और उनके काडर ने ये भरोसा तोड़ दिया। इन लोगों ने बंगाल का विश्वास तोड़ा है। इन लोगों ने बंगाल को अपमानित किया है। यहां की बहन-बेटियों पर अत्याचार किया गया है।
  •  पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के नारे पर कांग्रेस सत्ता में आई थी। आजादी के बाद कुछ समय काम हुआ, लेकिन फिर बंगाल पर वोटबैंक की राजनीति हावी होती चली गई। इस राजनीति को वामपंथियों ने और बढ़ाया और नारा दिया- 'कांग्रेस कालो हाथ, भेंगे दाओ, गुड़िये दाओ! 
  • उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल से मां, माटी, मानुष के लिए काम करने का वादा किया था। इसके साथ ही पीएम मोदी ने सवाल पूछते हुए कहा कि पिछले 10 साल से यहां तृणमूल कांग्रेस की सरकार है, क्या सामान्य बंगाली परिवार के जीवन में वो परिवर्तन आया जिसकी बंगाल के लोगों की अपेक्षा थी?
  • पीएम मोदी ने कहा कि आज बंगाल का मानुष परेशान है, वो अपनी आंखों के सामने अपनों का खून बहता देखता है। वो अपनों को अपनी आंखों के सामने लुटते हुए देखता है। वो अपनों को इलाज के अभाव में दम तोड़ते हुए देखता है। पूरा बंगाल अब एक स्वर में कह रहा है- आर नॉय औन्नॉय।
  • राज्य की मुखिया से सवाल करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि दीदी आज पश्चिम बंगाल के नौजवान, यहां के बेटे-बेटियां आपसे एक ही सवाल पूछ रहे हैं। उन्होंने आपको दीदी की भूमिका में चुना था। लेकिन आपने खुद को एक ही भतीजे की बुआ तक सीमित क्यों कर दिया?

     

  • चुनाव बाद के परिवर्तन की बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमारा लक्ष्य सिर्फ पश्चिम बंगाल में सत्ता का परिवर्तन करना ही नहीं है। हम बंगाल की राजनीति को विकास केंद्रित करना चाहते हैं। इसलिए हम यहां असोल पोरिवर्तन (असली परिवर्तन) की बात कर रहे हैं।

     

  • पीएम मोदी ने कहा कि वामपंथियों के विरुद्ध ममता दीदी ने परिवर्तन का नारा दिया था। पश्चिम बंगाल से मां, माटी, मानुष के लिए काम करने का वादा किया था। पिछले 10 साल से यहां तृणमूल कांग्रेस की सरकार है, क्या सामान्य बंगाली परिवार के जीवन में वो परिवर्तन आया जिसकी उसे अपेक्षा थी?

     

  •  ममता बनर्जी से सवाल करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आपने एक ही भतीजे की बुआ होने के मोह को क्यों चुना? बंगाल के लाखों भतीजे-भतीजियों की आशाओं के बजाय आप अपने भतीजे का लालच पूरा करने में क्यों लग गईं? आप भी भाई-भतीजावाद के उन कांग्रेसी संस्कारों को छोड़ नहीं पाईं, जिनके खिलाफ आपने बगावत की थी।