नई दिल्ली, एएनआइ। पश्चिम बंगाल और असम विधानसभा चुनावों के पहले दो चरणों के उम्मीदवारों के नामों को अंतिम रूप देने के लिए शनिवार को कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति (सीईसी) की पहली बैठक होनी है। बैठक वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित की जाएगी। पार्टी के वरिष्ठ नेता और कांग्रेस की पश्चिम बंगाल और असम इकाई के नेता भी बैठक में भाग लेंगे। पश्चिम बंगाल में, कांग्रेस का इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आइएसएफ)  और वाममोर्चे के साथ गठबंधन है। कांग्रेस 92 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। पहले और दूसरे चरण में कौन सी पार्टी किस सीट से चुनाव लड़ेगी, इसकी सूची गठबंधन ने शुक्रवार को जारी कर दी। 

वाम मोर्चे ने शुक्रवार को ही उम्मीदवारों के नामों की भी घोषणा कर दी। असम में, कांग्रेस का बदरुद्दीन अजमल के नेतृत्व वाली AIUDF, वाम दलों और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (BPF) के साथ गठबंधन है। कौन सी पार्टी कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी इसकी घोषणा होनी बाकी है। पश्चिम बंगाल में 294 सीटों पर आठ चरणों में चुनाव होंगे। पहले चरण का मतदान 27 मार्च और अंतिम चरण का मतदान 29 अप्रैल को होगा। 

वहीं असम में 126 विधानसभा सीटों के लिए तीन चरणों में चुनाव होंगे। पहले चरण का मतदान 27 मार्च, दूसरे का एक अप्रैल और तीसरे का छह अप्रैल को मतदान होगा। भाजपा ने शुक्रवार को असम विधानसभा चुनाव के लिए पहली सूची जारी कर दी । पार्टी ने 70 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी।  इसमें उसने 11 मौजूदा विधायकों का टिकट काट दिया।  मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और हेमंत विश्व सरमा अपनी मौजूदा सीट से ही चुनाव लड़ेंगे। राज्य में पार्टी का असम गण परिषद (एजीपी) और यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) के साथ गठबंधन है।

बता दें बंगाल और असम के अलावा तमिलनाडु, केरल और केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में चुनाव होने है। तीनों प्रदेशों में एक चरण में छह अप्रैल को चुनाव होंगे। सभी राज्यों के दो मई को परिणाम आएंगे। 

Edited By: Tanisk