लखनऊ (जेएनएन)। समाजवादी परिवार में बढ़ती रार अब समाजवादी पार्टी के पदाधिकारियों तक पहुंच गई है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव गुट के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने आज लखनऊ में समाजवादी पार्टी कार्यालय में शिवपाल सिंह यादव के कमरे के बाहर लगी नेम प्लेट को हटाकर अपनी नेम प्लेट लगा दी। इसके बाद उत्तम समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव से मिलने उनके आवास पर पहुंच गए।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के खास माने जाने वाले सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल आज मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से उनके सरकारी आवास पर मिले। इस दौरान मंत्री राम गोविंद चाधरी भी थे।

यह भी पढ़ें: मुलायम ने अखिलेश को माना सीएम प्रत्याशी

इसके बाद नरेश उत्तम ने समाजवादी पार्टी कार्यालय का रुख किया। सूत्रों के अनुसार सपा कार्यालय उनको सीएम अखिलेश यादव ने भेजा था। यहां पर उन्होंने शिवपाल सिंह यादव के कमरे के बाहर लगी प्रदेश अध्यक्ष तथा मंत्री सिंचाई व सहकारिता की नेम प्लेट को हटवा दिया। इस नेम प्लेट को दिल्ली जाने से पहले सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने लगवाया था। सूत्रों के मुताबिक, नेमप्लेट हटाने का आदेश मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की ओर से जारी किया गया है।

शिवपाल सिंह यादव की नेम प्लेट को हटवाने के बाद अपनी नेप प्लेट लगवाकर नरेश उत्तम पटेल थोड़ी देकर कमरे में बैठे। इसके बाद वह पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव से मिलने उनके आवास, पांच विक्रमादित्य मार्ग पहुंचे। उसी समय परिवहन मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति भी सपा मुखिया के आवास पर मौजूद थे। मुलायम सिंह यादव से गायत्री प्रसाद प्रजापति से मुलाकात करने के बाद फिर नरेश उत्तम पटेल ने मुलाकात की।

UP Election 2017:अखिलेश ने एमएलसी सीटों के सपा प्रत्याशी घोषित किए

मुलायम सिंह के आवास से निकलने के बाद उन्होंने कहा कि वह नेताजी से आशीर्वाद लेने गए थे। उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह हमारे नेता है, वह सदैव नेता रहेंगे। साथ ही स्पष्ट किया कि इस मुलाकात का पार्टी विवाद से लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा कि मुलाकात पर तरह-तरह के कयास न लगाएं जाए। उन्होंने कहा कि चुनाव चिन्ह पर चुनाव आयोग का फैसला जो भी हो हमे मंजूर होगा।

गौरतलब है कि आठ जनवरी को सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने दिल्ली रवाना होने से पहले उन्होंने कार्यालय में अपने और शिवपाल के कमरे पर नई नेम प्लेट लगवाई थी।

चुनाव आयोग से करेंगे शिकायत

नरेश उत्तम पटेल ने अपने साथ ही अखिलेश यादव की राष्ट्रीय अध्यक्ष की नेम प्लेट भी लगवाई। नरेश उत्तम ने बताया कि गाडिय़ों से उतरवाए जा रहे झंडों की शिकायत को लेकर वो चुनाव आयोग को पत्र लिखा है. इसके साथ उन्होंने अन्य विषयों से संबंधित बातचीत के लिए लखनऊ में चुनाव आयुक्त टी वेंकटेश से मुलाकात करेंगे।

चुनाव आयोग में कल सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव और अखिलेश गुट की तरफ से साइकिल सिम्बल को लेकर दी गई दलील पूरी हो गई है। वहीं चुनाव आयोग ने दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद फैसले को सुरक्षित रख लिया है।

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस