लखनऊ (जेएनएन)। समाजवादी पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने सपा की चुनावी हार के कुछ घंटे बाद जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट जाकर कार्यवाहक मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की। जनता के बीच रहकर संघर्ष के लिए उन्हें प्रेरित किया। करीबन20 मिनट अकेले में बात करने के बाद मुलायम सैफई चले गए। कुछ देर बाद अखिलेश यादव परिवार के साथ सैफई के लिए रवाना गये। दोनों सड़क मार्ग से गांव गये।
एक जनवरी 2017 को सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष पद हासिल करने के बाद कई दिनों तक मुलायम व अखिलेश पक्ष के लोग चुनाव आयोग में कानूनी लड़ाई लड़ते रहे, इसके बाद अखिलेश यादव ने अपने कंधों पर चुनावी अभियान का बोझ उठाया। प्रचार के दौरान पिता-पुत्र के बीच सार्वजनिक रूप से बात नहीं हुई। मगर शनिवार को सपा को गहरा धक्का देने वाला चुनाव परिणाम आया और रविवार की सुबह मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव की टोह ली। यह पता चलने पर कि वह जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट में चुनावी हार की समीक्षा कर रहे है, मुलायम कुछ सुरक्षा कर्मियों के साथ वहां पहुंच गये। कार्यकर्ताओं को हटाते हुए कहा कि 'मुझे अखिलेश से कुछ बात करनी है। मुलायम ने 20 मिनट तक उनके साथ रहे। सूत्रों का कहना है कि उन्होंने अखिलेश यादव से कहा कि 'चुनाव में हार जीत होती रहती है, वह भी चुनाव हारे है। जनता के बीच रहकर उनकी समस्या के लिए संघर्ष करो। यहां से निकले मुलायम ने चलते-चलते पूछे गए सवाल पर कहा कि हार के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है, जनता को हम प्रभावित नहीं कर पाये। गठबंधन पर गोलमोल जवाब देते हुए वह सैफई के लिए निकल गये। उसके कुछ देर बाद ही अखिलेश यादव भी सैफई चले गये। ध्यान रहे, मुलायम परिवार होली का त्योहार सैफई में मनाता है।
हार गए घमंड करने वाले : शिवपाल
इटावा के सैफई पहुंचे सपा नेता शिवपाल यादव ने कहा कि घमंड करने वालों की हार हुई है। पूरी पार्टी को बिखेरने का काम किया गया है फिर भी हम नेताजी के साथ मिलकर इस हार की समीक्षा करेंगे। जसवंतनगर की जनता ने जो भरोसा दिखाया उसे कभी नहीं तोड़ूंगा। शिवपाल ने कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। उनके चेहरे पर जीत की खुशी साफ झलक रही थी। उन्होंने कहा कि इस बार दलित समाज ने भी एकजुट होकर हमें वोट दिया है। उसका कर्ज जरूर अदा करूंगा। इस बार भी सैफई में हर साल की तरह पूरा परिवार एकजुट होगा और होली खेलेगा। उन्होंने प्रदेशवासियों को होली की बधाई दी और कहा कि रंगों के इस त्योहार को खुशी से मनाएं। 
सीएम आवास से सामान मंगाया
अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री के सरकारी आवास 5, कालिदास मार्ग से अपना सामान हटवाना शुरू कर दिया है। रविवार को उनका ढेरों सामान वहां से हटाकर पूर्व मुख्यमंत्री के रूप में आवंटित आवास 4,विक्रमादित्य मार्ग ले जाया गया। सूत्रों का कहना है कि अगले दो दिन के अंदर सरकारी आवास खाली हो जाएगा।

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस