नई दिल्ली, एजेंसी: राज्य सभा सदस्य और शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने शुक्रवार को दावा किया है कि आने वाले दिनों में कम से कम 10 मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार से इस्तीफा दे सकते हैं।

यूपी में चुनावों से पहले झटका देते हुए छह विधायक पार्टी छोड़ चुके हैं। तीन मंत्री भी सरकार से इस्तीफा दे चुके हैं। संजय राउत ने विशेष बातचीत में कहा कि यह आंकड़ा और बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कोई काम नहीं हुआ। प्रदेश के युवा बदलाव चाहते हैं। जब महत्वपूर्ण मंत्री, ओबीसी नेता पार्टी छो़ड़ रहे हैं तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि हवा किस दिशा में बह रही है। उन्होंने कहा कि यह तो शुरआत है, आने वाले दिनों में 10 और मंत्री इस्तीफा दे सकते हैं। उन्होंने इस बात को दोहराया कि शिवसेना राज्य में 50 से 100 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

गौरतलब है कि, उत्तर प्रदेश में विधानसभी चुनावों की तैयारियां तेजी पर हैं। ऐसे में सत्तारुढ़ पार्टी बीजेपी से छह विधायकों के इस्तीफे सवालिया निशान खड़े करते हैं। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार से सबसे पहले कैबिनेट मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस्तीफा दिया था। स्वामी प्रसाद के बाद कानपुर में बिल्हौर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक भगवती सागर, बांदा की तिंदवारी सीट से विधायक बृजेश प्रजापति और शाहजहांपुर के तिलहर विधायक रोशन लाल वर्मा ने पार्टी को अपना इस्तीफा सौंपा था।

इनके बाद बीजेपी छह अन्य मंत्री और विधायकों ने भी अपने इस्तीफे सौंपे है। जिसमें प्रदेश सराकर में कैबिनेट मंत्री रहे दारा सिंह चौहान, फिरोजाबाद जिले की शिकोहाबाद विधानसभा सीट पर विधायक मुकेश वर्मा, औरैया जिले के बिधूना विधानसभा क्षेत्र से विधायक विनय शाक्य, लखीमपुर जिले की धौरहरा सीट से विधायक बाला प्रसाद अवस्थी, मुजफ्फरनगर जिले में मीरापुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक अवतार सिंह भड़ाना, सहारनपुर जिले के नकुड़ विधानसभा क्षेत्र से विधायक धरम सिंह सैनी शामिल हैं।

Edited By: Amit Singh