चेन्नई, एजेंसियां। तमिलनाडु में छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक ने बहुत लोकलुभावन घोषणापत्र जारी किया है। पार्टी ने अपने घोषणापत्र में जिन परिवारों में किसी के पास सरकारी नौकरी नहीं है, उनके एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का वादा किया है। पार्टी ने हर साल हर परिवार को छह मुफ्त एलपीजी सिलेंडर दिए जाने का वादा किया है। इसके अलावा लोगों को मुफ्त में मकान, किसानों को 7,500 रुपये की वार्षिक सहायता, मुफ्त सोलर कुकिंग स्टोव और वाशिंग मशीन देने का भी वादा किया गया है।

नागरिकता संशोधन कानून पर यह वादा 

खास बात यह है कि पार्टी ने कहा है कि वह केंद्र सरकार से नागरिकता संशोधन कानून वापस लेने और शिक्षा को समवर्ती सूची से निकालकर राज्य सूची में शामिल करने का आग्रह करेगी। बताते चलें कि केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा तमिलनाडु में अन्नाद्रमुक के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है।

घर तक आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की बात 

अन्नाद्रमुक ने कहा है कि यदि विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में उसकी सरकार बनती है तो जनवितरण प्रणाली के जरिये आवश्यक वस्तुओं की लाभार्थियों के घर तक आपूर्ति की जाएगी। उल्लेखनीय है कि पड़ोसी राज्य आंध्र प्रदेश में इसी तर्ज पर एक योजना शुरू की गई है।

मातृत्व अवकाश बढ़ाने का भी वादा 

पार्टी ने सरकारी महिला कर्मचारियों के लिए मातृत्व अवकाश नौ महीने से बढ़ाकर एक साल करने और लगभग दो हजार अम्मा मिनी क्लीनिकों के लिए नई इमारतें बनवाने का भी वादा किया है। 

मुफ्त मकान देने का वचन 

पार्टी ने कहा है कि जिन लोगों के पास अपना मकान नहीं है, उनके लिए ग्रामीण और शहरी इलाकों में अम्मा आवास योजना के तहत मुफ्त मकान बनवाया जाएगा। जिन लोगों ने सहकारी आवास समितियों से लोन लिया है, कर्ज चुकाने में उनका ब्याज माफ कर दिया जाएगा। 

राशन कार्ड धारकों को 1,500 रुपये देने की बात 

अन्नाद्रमुक के वरिष्ठ नेता सी पोन्नियन ने कहा कि आर्थिक समानता लाने के लिए सभी राशन कार्ड धारकों को 1,500 रुपये दिए जाएंगे। यह राशि परिवार की महिला प्रधान के बैंक खाते में हस्तांतरित की जाएगी। उन्होंने कहा कि शहरी बसों में यात्रा करने पर महिलाओं को किराए में 50 फीसद छूट दी जाएगी।