चेन्नई, एजेंसियां। तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर धारापुरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए ने राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता को याद करके कांग्रेस और डीएमके पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि 25 मार्च, 1989 को कभी नहीं भूला जा सकता। तमिलनाडु विधानसभा में, डीएमके नेताओं ने अम्मा जयललिता जी के साथ कैसा व्यवहार किया? उन्होंने पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ता की मां शोभा मजूमदार की मौत को लेकर भी विपक्ष पर निशाना साधा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि एक तरफ एनडीए के पास विकास का एजेंडा है, तो दूसरी तरफ कांग्रेस और डीएमके के पास वंशवाद का एजेंडा है। उनके नेताओं के भाषण में कुछ भी सकारात्मक नहीं दिखता है, वे शायद ही अपने विजन या काम के बारे में बात करते हैं। वे केवल दूसरों को अपमानित करते हैं और झूठ फैलाते है। इन दिनों कांग्रेस और डीएमके ने अपनी पुरानी 2 जी मिसाइल लॉन्च की है, इसका एक स्पष्ट लक्ष्य है। इससे पहले पीएम मोदी ने कहा कि अब से कुछ दिनों में, तमिलनाडु  नई विधानसभा के लिए मतदान करेगा। एनडीए परिवार राज्य के लोगों की सेवा करने के लिए आपका आशीर्वाद चाहता है। हम एमजीआर और अम्मा जयललिता जी के आदर्शों से प्रेरित, सर्वांगीण विकास के ठोस एजेंडे के आधार पर आपके वोट चाहते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी कहा कि भारत को तमिलनाडु की संस्कृति पर बहुत गर्व है। मेरी ज़िंदगी का सबसे खुशी का पल तब था, जब मुझे दुनिया की सबसे पुरानी भाषा तमिल में संयुक्त राष्ट्र में कुछ शब्द कहने का मौका मिला। बता दें कि मंच पर उनके साथ मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी भी मौजूद हैं। इससे पहले उन्होंने केरल में जनसभा को संबोधित किया और शाम को पुडुचेरी में रैली संबोधित करेंगे। तीनों राज्यों में एक साथ छह अप्रैल को चुनाव होने हैं। नतीजे दो मई को आएंगे। 

तमिलनाडु की जनता सब कुछ नहीं देख रही है

प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस और डीएमके पर निशाना साधते हुए कहा कि आज, कांग्रेस और डीएमके ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री की आदरणीय मां का अपमान किया है। भगवान न करे, अगर वे सत्ता में आते हैं, तो वे तमिलनाडु की कई अन्य महिलाओं का अपमान करेंगे। मैं कांग्रेस और डीएमके को बताना चाहता हूं- तमिलनाडु की जनता सब कुछ नहीं देख रही है। लोग राज्य की महिलाओं का अपमान कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे।

महिलाओं का अपमान करना कांग्रेस-डीएमके की संस्कृति का हिस्सा

महिलाओं का अपमान करना कांग्रेस-डीएमके की संस्कृति का हिस्सा है। कुछ दिनों पहले डीएमके के एक विधायक डिंडीगुल लियोनी ने महिलाओं के खिलाफ खराब टिप्पणी की। डीएमके ने उसे रोकने के लिए कुछ नहीं किया है। कई प्रमुख नेताओं को दरकिनार कर देने वाले डीएमके के युवा राजकुमार ने भी गलत टिप्पणी की। डीएमके ने उन्हें भी रोकने के लिए कुछ नहीं किया। 25 मार्च, 1989 को कभी न भूला जा सकता। तमिलनाडु विधानसभा में, डीएमके नेताओं ने अम्मा जयललिता जी के साथ कैसा व्यवहार किया? डीएमके और कांग्रेस महिला सशक्तिकरण की गारंटी नहीं दे सकते। 

शोभा मजूमदार को लेकर विपक्ष पर बरसे पीएम मोदी

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में एक बुजुर्ग महिला शोभा मजूमदार की कल मौत हो गई। हमने देखा कि कैसे टीएमसी के  गुंडों ने क्रूरता से उन पर हमला किया, क्योंकि उनकी विचारधारा अलग थी। यह लंबे समय से खबरों में है। क्या कांग्रेस ने कोई सहानुभूति दिखाई? क्या द्रमुक और वाम दलों ने इसकी निंदा की। गौरतलब है कि शोभा भाजपा कार्यकर्ता की मां थीं। 

 

Edited By: Tanisk