नई दिल्ली, एजेंसियां। चुनाव आयोग ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी की मां के खिलाफ कथित अपमानजनक टिप्पणी को लेकर द्रमुक नेता ए राजा को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। आयोग ने ए राजा को 31 मार्च को शाम छह बजे तक जवाब देने को कहा है। चुनाव प्रचार के दौरान आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर अन्नाद्रमुक ने आयोग से द्रमुक नेता की शिकायत की थी। आयोग ने कहा कि ए राजा का भाषण न केवल अपमानजनक है, बल्कि महिलाओं की गरिमा के भी खिलाफ है। यह आदर्श आचार संहिता के प्रविधानों का गंभीर उल्लंघन है।

तमिलनाडु के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (CEO) सत्यब्रत साहू ने मुख्यमंत्री एडप्पाडी के पलानीस्वामी के खिलाफ डीएमके नेता ए राजा द्वारा की गई अपमानजनक टिप्पणी के बारे में चुनाव आयोग (ECI) को एक रिपोर्ट भेजी है। रिपोर्ट जिला चुनाव अधिकारियों द्वारा दिए गए इनपुट पर आधारित है और चुनाव आयोग राजा के खिलाफ आगे की कार्रवाई का फैसला करेगा। तमिलनाडु विधानसभा की 234 सीटों पर 6 अप्रैल को एक चरण में चुनाव होंगे और मतों की गिनती 2 मई को होगी।

पीएम मोदी ने ए. राजा को बताया पुरानी टूजी मिसाइल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में चुनावी सभाओं को संबोधित किया और तीनों राज्यों में कांग्रेस गठबंधन और वाम दलों पर जमकर निशाना साधा। तमिलनाडु में द्रमुक नेता व पूर्व टेलीकाम मंत्री ए. राजा पर सीधा निशाना साधते हुए मोदी ने उन्हें कांग्रेस व द्रमुक की पुरानी पड़ चुकी टूजी मिसाइल करार दिया और मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी की मां व तमिलनाडु की महिलाओं का अपमान करने के लिए उनकी आलोचना की।तमिलनाडु में अपनी पहली चुनावी रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने आरोप लगाया कि महिलाओं का अपमान करना कांग्रेस-द्रमुक की संस्कृति का हिस्सा है।

सत्ता में आए तो वे तमिलनाडु की कई अन्य महिलाओं का अपमान करेंगे

ए. राजा का नाम लिए बिना मोदी ने कहा कि कांग्रेस और द्रमुक ने अपनी पुरानी पड़ चुकी टूजी मिसाइल को लांच किया है और इस मिसाइल का एक ही स्पष्ट लक्ष्य है, तमिलनाडु की महिलाएं। आज कांग्रेस और द्रमुक ने तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी की पूजनीय माताजी का अपमान किया है। उन्होंने कहा, 'भगवान न करे, अगर वे सत्ता में आए तो वे तमिलनाडु की कई अन्य महिलाओं का अपमान करेंगे।' 

राजा ने क्या कहा था 

कुछ दिन पहले अपने प्रचार अभियान के दौरान राजा ने पलानीस्वामी के जन्म को लेकर अपमानजनक व आपत्तिजनक बातें कही थीं। सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक की शिकायत पर पुलिस ने उनके खिलाफ मामला भी दर्ज किया है। हालांकि राजा ने बाद में अपनी टिप्पणी के लिए यह कहते हुए माफी मांग ली थी कि उनके शब्दों को गलत समझा गया। 

 

Edited By: Tanisk