जागरण संवाददाता, जयपुर। विधानसभा चुनाव से पहले हर वर्ग को खुश करने में जुटी राजस्थान की वसुंधरा राजे सरकार ने कर्मचारियों के महंगाई भत्ते तथा पेंशनरों की महंगाई राहत दर में 2 प्रतिशत की वृद्धि की है। इस निर्णय से सरकार पर चालू वित्तीय वर्ष में करीब 547 करोड़ रुपये का अतिरिक्त वित्तीय भार पड़ेगा। महंगाई भत्ते एवं महंगाई राहत दर में यह वृद्धि 1 जुलाई, 2018 से लागू होगी। इस वृद्धि से लगभग 8 लाख कर्मचारी एवं 3.5 लाख पेंशनर्स लाभान्वित होंगे।

राज्य सरकार ने केंद्र सरकार के अनुरूप ही कर्मचारियों के महंगाई भत्ते तथा पेंशनरों की महंगाई राहत दर संशोधित कर वेतन और पेंशन का 9 प्रतिशत करने का निर्णय लिया है। बढ़े हुए 2 प्रतिशत महंगाई भत्ते का लाभ राज्य कर्मचारियों के अतिरिक्त कार्य प्रभारित कर्मचारियों, पंचायत समिति, जिला परिषद कर्मचारियों तथा राज्य के पेंशनरों को भी मिलेगा।

जुलाई और अगस्त माह के बढ़े हुए महंगाई भत्ते की राशि संबंधित कर्मचारियों के सामान्य प्रावधायी निधि खाते में जमा की जाएगी तथा 1 सितंबर, 2018 से महंगाई भत्ते का नकद भुगतान दिया जाएगा। पेंशनरों तथा 1 जनवरी, 2004 एवं उसके बाद नियुक्त राज्य कर्मचारियों को बढ़े हुए महंगाई भत्ते एवं महंगाई राहत का भुगतान नकद देय होगा। 

Posted By: Sachin Mishra