उदयपुर, जेएनएन। केंद्रीय कानून मंत्री एवं भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि राहुल गांधी हर हफ्ते अपनी अक्षमता का प्रदर्शन करते हैं। वे कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लायक नहीं। महज परिवारवाद की वजह से वह इस पद तक पहुंचे हैं। जिस पार्टी को जवाहर लाल नेहरू, सरदार वल्लभभाई पटेल, इंदिरा गांधी जैसे बड़े कद वाले नेताओं ने चलाया है, वह राहुल गांधी के बस की बात नहीं। रविशंकर प्रसाद यहां शुक्रवार को उदयपुर में पत्रकारों से बात कर रहे थे।

कानून मंत्री ने कहा कि नोटबंदी ने देश के नागरिकों को ईमानदार बनाने की कोशिश की। पहले जहां एक कमरे में सौ कंपनियां चलती थीं, वे सभी बंद हो गईं। नोटबंदी के बाद तीस हजार ऐसे खाते हैं, जिनमें जमाराशि की जांच की जानी है। चौदह लाख करोड़ में पांच लाख करोड़ देश के डेढ़ लाख अकाउंट में जमा हुए, जिनकी जांच की जा रही है।

उन्होंने जीएसटी को भी सफल बताते हुए कहा कि इससे देश की आर्थिक ताकत बढ़ी है। फ्रांस जैसे देश को आर्थिक स्थिति में पीछे धकेल दिया है। आगे चीन की बारी है। राफेल विवाद पर उन्होंने एक अंग्रेजी दैनिक में प्रकाशित खबर को आधार बताते हुए कहा कि राफेल विमान कांग्रेस सरकार के दौरान किए गए करार से नौ फीसद सस्ते लिए जा रहे हैं। हथियार लगने के बाद यह विमान हमें 28 फीसद सस्ते पड़ेंगे। राहुल गांधी के झूठ बोलने की कोई सीमा नहीं। उनके बयान ऐसे हैं, जैसे पाकिस्तान और चीन देते आए हैं। सही बात तो यह है कि कांग्रेस की संस्कृति में बिना दक्षिणा कुछ नहीं होता। इसीलिए वह दस साल में राफेल विमान का सौदा नहीं कर पाए।

राममंदिर मुद्दे पर उन्होंने राहुल को घेरते हुए कहा कि वह इस मामले में अपनी और पार्टी की स्थिति स्पष्ट करें। उनके नेता कपिल सिब्बल बाबरी मस्जिद के लिए पैरवी करते हैं, जबकि एक नेता कहते हैं कि राममंदिर वह बनाएंगे। उन्होंने राहुल से पूछा कि वह क्या इस मुद्दे पर भाजपा का समर्थन करेंगे। रविशंकर प्रसाद ने हाल ही दिए सीपी जोशी के बयान को वैचारिक नीचता करार दिया। उन्होंने कहा कि यह उनकी हताशा है, जो जुबान पर

आ गई।

राजस्थान में टूटेगा मिथक

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि इस बार राजस्थान में मिथक टूटेगा और लगातार दूसरी बार भाजपा की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि अपने विकास कार्यों के सहारे भाजपा सरकार एक बार फिर आएगी। वसुंधरा सरकार ने राजस्थान को बीमारू राज्य से बाहर निकाला। कांग्रेस सरकार में यहां के नागरिक की प्रतिवर्ष आय 61 हजार रुपये सालाना थी, वह अब 76 हजार रुपये सालाना पहुंच गई।

 

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस