जयपुर, जागरण संवाददाता। वामपंथी, जनवादी पार्टियों के साझा संगठन राजस्थान लोकतांत्रिक मोर्चा ने कांग्रेस और भाजपा को टक्कर देने के लिए एकजुट होकर सभी 200 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने की रणनीति बनाई है। मोर्चा की रणनीति शेखावाटी, बीकानेर संभाग और आदिवासी अंचल उदयपुर में अधिक से अधिक सीटें हासिल करने को लेकर है। माकपा के पूर्व विधायक अमराराम को पहले ही सीएम पद का दावेदार घोषित किया जा चुका है।

गठबंधन के विकल्प खुले

लोकतांत्रिक मोर्चा के नेताओं ने पिछले दो दिन में अलग-अलग बैठक कर विधानसभा क्षेत्रवार चर्चा की। नेताओं ने सभी 200 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा के बावजूद अन्य दलों के साथ गठबंधन के विकल्प खुले रखे हैं। मोर्चा ने प्रवक्ता ने बताया कि जद (एस) के अर्जुन देथा को मोर्चे का संयोजक बनाया गया है। इसके अलावा 15 सदस्यीय कोर कमेटी में सभी सहयोगी दलों के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव में सभी जनवादी व अन्य दलों को एक मंच पर लाने के लिए बने इस मोर्चे में फिलहाल सात राजनीतिक दल, जद एस, सपा, भाकपा, माकपा, माकपा माले व राष्ट्रीय लोकदल शामिल हैं। मोर्चे के नेताओं के अनुसार वे आगामी विधानसभा चुनाव में मतदाताओं को एक नया विकल्प देने की मंशा रखने वाले सभी लोगों का स्वागत करते हैं और उन्होंने इसके विकल्प खुले रखे हैं। 

Posted By: Sachin Mishra