जयपुर, नरेन्द्र शर्मा। राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 के लिए मतदान से चार दिन पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने दैनिक जागरण से बातचीत में सरकार बनाने का दावा करते हुए कहा कि लोग कह रहे हैं कांग्रेस की हवा चल रही है, लेकिन मैं कह रहा हूं यह तो सुनामी है। भारी बहुमत से कांग्रेस की सरकार बनेगी। पेश हैं पायलट से बातचीत के प्रमुख अंशः

आपको कितनी सीटें जीतने की उम्मीद है?

कांग्रेस भारी बहुमत से सरकार बनाएगी। सीटों की संख्या 11 दिसंबर को परिणाम आने के बाद सबके सामने आ जाएगी।

आम लोगों में सवाल है कि कांग्रेस का सीएम कौन होगा? पार्टी ने आपको सीएम का चेहरा घोषित क्यों नहीं किया?

इस वक्त मेरा पूरा फोकस पार्टी को जिताने पर है। किस को कौन सा पद मिलेगा, यह पार्टी तय करेगी। वैसे कांग्रेस में चुनाव से पहले कभी चेहरा घोषित करने की परंपरा नहीं रही है। एक-दो अपवाद हो सकते हैं। मैंने अध्यक्ष पद की कमान संभाली थी तो 200 में से हमारे 21 विधायक जीते थे और आज हम सरकार बनाने की तरफ बढ़ रहे हैं।

यदि सरकार बनी तो प्राथमिकता क्या होगी?

हमने चुनाव घोषणा-पत्र में जो वादे किए हैं, वो प्राथमिकता के साथ लागू करेंगे। किसानों की कर्ज माफी, युवाओं को रोजगार, महिला सुरक्षा, बुजुर्ग किसानों को पेंशन लागू की जाएगी। सत्ता में आते ही घोषणा-पत्र को कैबिनेट में पास कराकर सरकारी दस्तावेज बनाएंगे।

झालरापाटन में राजपूतों की नाराजगी को भाजपा के खिलाफ इस्तेमाल करने के लिए मानवेंद्र को उतारा। क्या मानवेंद्र वसुंधरा राजे को हरा पाएंगे? 

भाजपा में असुरक्षा और मायूसी छाई हुई है। मानवेंद्र सिंह स्वाभिमान की लड़ाई लड़ रहे हैं और वे चुनाव जीतेंगे। वसुंधरा राजे का क्षेत्र में काफी विरोध है।

यदि कांग्रेस सरकार सत्ता में आती है तो वसुंधरा सरकार के मंत्रियों और अफसरों की जांच की बात अशोक गहलोत कह रहे हैं क्या ऐसा होगा?

कांग्रेस कभी बदले की भावना से काम नहीं करती। लेकिन भ्रष्टाचार और गड़बड़ियों की जांच कराएंगे। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

टोंक में भाजपा ने आपके खिलाफ राज्य के परिवहन मंत्री यूनुस खान को उतारा है, क्या चुनौती महसूस कर रहे हैं?

टोंक में मैं नहीं आम जनता और कार्यकर्ता चुनाव लड़ रहा है। मैं तो इस इंतजार में हूं...अपने प्रत्याशी के प्रचार के लिए योगी आदित्यनाथ टोंक आएंगे या नहीं। अब तो चुनाव में चार दिन शेष बचे हैं।

भाजपा कांग्रेस के नेताओं में आपसी मतभेद और बिना दूल्हे की बारात होने की बात कहती है?

कांग्रेस के सभी नेता एक साथ हैं। मतभेद तो भाजपा में है। हमेशा से ही सीएम वसुंधरा राजे का पीएम नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ 36 का आंकड़ा रहा है।  

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप