जयपुर, नरेन्द्र शर्मा। राजस्थान विधानसभा चुनाव में शुक्रवार को 200 में से 199 सीटों के लिए मतदान होगा। एक सीट रामगढ़ पर भाजपा प्रत्याशी की मौत के कारण चुनाव स्थगित कर दिया गया है। इस चुनाव में सात विधानसभा सीटों पर सबकी की नजर है। इन सीटों पर दिग्गज नेता चुनाव लड़ रहे हैं।

ये है प्रदेश की चर्चित सीटें:-

1. झालारापाटन
इस सीट से सीएम वसुंधरा राजे चौथी बार चुनाव मैदान में हैं। वहीं, कांग्रेस ने दिग्गज भाजपा नेता जसवंत सिंह के पुत्र मानवेंद्र सिंह को टिकट दिया है। राजपूत समाज के विभिन्न संगठनों ने मानवेंद्र सिंह का समर्थन किया है। वसुंधरा राजे पिछला चुनाव 60, 896 वोटों से जीती थी। मानवेंद्र सिंह के प्रचार में कांग्रेस के कई दिग्गज नेता आए, वहीं वसुंधरा राजे अपनी घर-घर पहुंच के बल पर जीत की उम्मीद लगाए बैठी है। इस सीट पर सबकी निगाह है। वसुंधरा राजे झालावाड़ से पांच बार सांसद रहीं, वर्तमान में उनके बेटे दुष्यंत सिंह सांसद हैं।

2. सरदारपुरा
इस सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पांचवीं बार चुनाव लड़ रहे हैं। उनके सामने भाजपा के टिकट पर शंभुसिंह खेतासर मैदान में हैं। गहलोत ने पिछले चुनाव भी खेतासर को 18,478 वोटों से हराया था। राजपूत समाज की वसुंधरा सरकार से नाराजगी का असर इस सीट पर दिखाई दे सकता है।

3. नाथद्वारा
यहां से कांग्रेस के दिग्गज नेता डॉ. सीपी जोशी चुनाव लड़ रहे हैं। चार बार विधायक रहे जोशी वर्ष 2008 के विधानसभा चुनाव में एक वोट से हारे थे। पिछली बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा। लोकसभा चुनाव हार गए थे। भाजपा ने उनके सामने महेश प्रताप सिंह को टिकट दिया है। महेश प्रताप सिंह डॉ. जोशी के कभी काफी निकट हुआ करते थे।

4. टोंक
राज्य की सबसे चर्चित सीटों में से एक टोंक विधानसभा सीट है। यहां से पीसीसी अध्यक्ष सचिन पायलट चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, भाजपा ने उनका मुकाबला करने के लिए वसुंधरा राजे सरकार में नंबर दो की हैसियत रखने वाले परिवहन मंत्री यूनुस खान को मैदान में उतारा है। वैसे तो दोनों ही बाहरी हैं। लेकिन जातिगत समीकरणों को देखते हुए माहौल पायलट के पक्ष में नजर आ रहा है। हालांकि यूनुस खान उन्हें कड़ी टक्कर दे रहे हैं। पायलट पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं।

5. उदयपुर
उदयपुर शहर की सीट से पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. गिरिजा व्यास कांग्रेस के टिकट पर मैदान में है। वहीं, उनका मुकाबला प्रदेश के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया से है। इस बार भाजपा और जनसंघ के पुराने नेता कटारिया के खिलाफ लामबंद हो रहे हैं। भाजपा के बागी भी चुनाव मैदान में हैं। इस वजह से इस बार मुकाबला कड़ा होगा।

6. खींवसर
इस सीट से राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के अध्यक्ष हनुमान बेनीवाल मैदान में हैं। बेनीवाल के खिलाफ उन्हीं की भतीजी चुनाव लड़ रही हैं। कांग्रेस प्रत्याशी रतन सिंह और भाजपा के रामचन्द्र मैदान में हैं। बेनीवाल पिछले दो साल में राज्य के प्रमुख जाट नेता बनकर उभरे हैं।

7. सांगानेर
यहां से भाजपा से अलग होकर भारत वाहिनी नाम से नई पार्टी बनाने वाले वरिष्ठ नेता घनश्याम तिवाड़ी चुनाव लड़ रहे हैं। भाजपा ने इस सीट से जयपुर के मेयर अशोक लाहोटी और कांग्रेस ने पुष्पेन्द्र भारद्वाज को टिकट दिया है। इस सीट पर मुकाबला बड़ा रोचक हो रहा है। 

Posted By: Preeti jha