जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान विधानसभा की 199 सीटों के लिए शुक्रवार को 72.62 फीसद मतदान हुआ। सर्विस वोटर्स के लिफाफे खोले जाने के बाद इस आंकड़े में बढ़ोतरी हो सकती है। पिछले विधानसभा चुनाव में 75.23 फीसद मतदान हुआ था। रामगढ़ विधानसभा सीट पर बसपा प्रत्याशी की मौत के कारण चुनाव स्थगित कर दिया गया था। इस चुनाव में पहली बार वीवीपैट मशीनों का उपयोग किया गया। मतदान के दौरान राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में आगजनी, तोड़फोड़ और मारपीट की घटनाएं हुईं। पुलिस ने पूरे राज्य में दो दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है।

अलवर जिले में शाहजहांपुर के पलावा गांव में ईवीएम में तकनीकी खराबी के संदेह पर एक मतदाता सतीश चौधरी वीडियो बनाने लगा। सतीश चौधरी को ऐसा करते हुए देखकर पुलिस के जवान ने देख लिया और पीठासीन अधिकारी को शिकायत की। इसके बाद सतीश चौधरी का मोबाइल छीन लिया गया। इस घटना की सूचना मिलने पर बड़ी संख्या में ग्रामीण मतदान केंद्र पर पहुंच गए। ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों और मतदानकर्मियों से मारपीट शुरू कर दी। इसी बीच, एक पुलिसकर्मी ने हवा में फायरिंग कर दी। फायरिंग के कारण दो लोगों के पैर और एक की नाक पर छर्रे लगे, वहीं एक महिला के पेट में बंदूक का बट लग गया, जिससे वह घायल हो गई। पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों को हिरासत में लिया है।

भरतपुर जिले की नदबई विधानसभा सीट के सैंडोली गांव में बूथ कैप्चरिंग का प्रयास किया गया, हालांकि सुरक्षा बल की सतर्कता के चलते ऐसा नहीं हो सका। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया है। धक्का-मुक्की के दौरान यहां एक महिला सहित दो लोग घायल हो गए। भरतपुर जिले के ही नगर विधानसभा क्षेत्र में एक मतदान केंद्र पर चाकूबाजी की घटना में तीन लोग घायल हो गए। यहां वर्तमान भाजपा विधायक अनिता सिंह और कुछ लोगों के बीच विवाद होने पर बचाव करने आए उनके सुरक्षाकर्मी की लोगों ने पीटाई कर दी। बाद में पुलिस ने मामला शांत कराया। बीकानेर जिले में कोलायत विधानसभा क्षेत्र के पोलिंग बूथ संख्या एक और 40 में कब्जा करने के प्रयास में पूर्व मंत्री और भाजपा नेता देवीसिंह भाटी का कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ विवाद हुआ। कोलायत से भाटी की पुत्रवधू चुनाव लड़ रही है। यहां भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हुए विवाद में एक जीप को आग लगाने के साथ ही कुछ वाहनों में भी तोड़फोड़ हुई। पुलिस ने इस मामले में आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है।

सीकर जिले के रतनगढ़ विधानसभा क्षेत्र में एक मतदान केन्द्र पर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी और कांग्रेस कार्यकर्ता आमने-सामने हो गए। दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई, इसमें तीन लोग घायल हो गए। एक व्यक्ति को इलाज के लिए बीकानेर रेफर किया गया है। यहां दो बाइकों को आग के हवाले करने के साथ ही वाहनों में तोड़फोड़ हुई। सीकर शहर में कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुए विवाद में दो लोगों के चोट आई है। दांतारामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के रानोली कस्बे मेंदो पक्षों के बीच विवाद के चलते वाहनों में तोड़फोड़ कर सड़क पर टायर जलाए गए। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर पथराव भी किया। करौली जिले के सपोटरा, दौसा जिले के महुआ और सवाईमाधोपुर में भी दो पक्षों के बीच विवाद हुआ, जिसमें पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में लिया है।

सेक्टर प्रभारी के घर मिली ईवीएम से भरी जीप, हंगामा

गुरुवार देर रात पाली शहर के आदर्श नगर महिला सेक्टर प्रभारी के घर के बाहर ईवीएम से भरी हुई जीप मिलने से हंगामा हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद मामला शांत कराया। सभी ईवीएम सुरक्षित एवं लॉक मिली है। महिला अधिकारी से जवाब मांगा गया है। महिला अधिकारी चुनाव की ड्यूटी पर जाने से पहले जीप से अपने घर गई थी,इसकी जानकारी किसी व्यक्ति को मिल गई। उस व्यक्ति ने अपने मोबाइल से वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। इस पर काफी बड़ी संख्या में लोग मौके पर पहुंचे और हंगामा करने लगे। हालांकि बाद में मामला शांत हो गया।  

Posted By: Sachin Mishra