नई दिल्ली, जेएनएन। कांग्रेस के दो मुख्यमंत्रियों ने शपथ ले ली है। कमलनाथ ने मध्यप्रदेश और अशोक गहलोत ने राजस्थान के सीएम पद की शपथ ले ली है। राजस्थान में सचिन पायलट को उप-मुख्यमंत्री बनाया गया है। दोनों कांग्रेसी मुख्यमंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह में विपक्ष के कई नेताओं समेत भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्रियों ने भी शिरकत की। 

राजस्थान के 22वें मुख्यमंत्री के रूप में अशोक गहलोत ने शपथ ली। राज्यपाल कल्याण सिंह ने उन्हें शपथ दिलाई। इसी के साथ वह राज्य के तीसरी बार मुख्यमंत्री बने हैं। उनके साथ सचिन पायलट ने भी शपथ ली। वह राजस्थान के उपमुख्यमंत्री नियुक्त किए गए हैं। सचिन पायलट ने मंत्री पद की शपथ ली क्योंकि उप मुख्यमंत्री पद का कोई उल्लेख संविधान में नहीं है, इसलिए उन्हें मंत्री पद की शपथ दिलाई गई है। मंत्रिमंडल का फैसला बाद में राहुल गांधी के परामर्श से होगा।

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे भी कार्यक्रम स्थल में मौजूद रहीं। समारोह में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मनमोहन सिंह, मल्लिकार्जुन खड़गे, ज्योतिरादित्य सिंधिया, नवजोत सिंह सिद्धू, जितिन प्रसाद समेत यूपीए के कई दिग्गज मौजूद रहे। जयपुर के ऐतिहासिक अल्बर्ट हॉल में शपथग्रहण का समारोह हुआ। हालांकि बसपा सुप्रीमो मायावती, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शपथ समारोह में नदारद नजर आए, जिसके कई सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं। 

गहलोत के शपथ समारोह में कौन-कौन आए?
राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा पूर्व पीएम एचडी देवेगौड़ा,शरद यादव, शरद पवार, फारूक अब्दुल्ला, चंद्रबाबू नायडू, कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी, तेजस्वी यादव, डीएमके नेता एमके स्टालिन और कनिमोरी, बाबूलाल मरांडी एवं हेमंत सोरेन और उपेंद्र कुशवाहा शामिल हुए। शपथ ग्रहण समारोह अल्बर्ट हॉल में आयोजित किया गया। गहलोत के शपथ ग्रहण के बाद सभी नेता मध्य प्रदेश में कमलनाथ के शपथग्रहण समारोह में पहुंचे हैं।

जाहिर है कि आज कांग्रेस के लिए बड़ी उपलब्धि का दिन है। कभी पूरे देश में राज करने वाली कांग्रेस हाल में पांच राज्यों के चुनाव होने से पहले तक सिर्फ पंजाब और केंद्र शासित राज्य पुडुचेरी तक सिमट गई थी, लेकिन तीन राज्यों की जीत ने साख पर आ चुकी कांग्रेस के अंदर नई ऊर्जा भर दी है। कर्नाटक में पार्टी जनता दल (सेकुलर) के साथ गठबंधन सरकार चला रही है, लेकिन चुनाव नतीजे आने के बाद तीन और राज्य उसके खाते में जुड़ गए। हिंदी बेल्ट राज्य राजस्थान में गहलोत शपथ ले चुके हैं और अन्य दो राज्यों मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस के मुख्यमंत्री आज शपथ लेने जा रहे हैं। 

कमलनाथ ने थामी मप्र की बागडोर 
मध्य प्रदेश के 18वें मुख्यमंत्री के रूप में कमलनाथ आज जंबूरी मैदान में शपथ ली।  राज्यपाल आनंदीबन पटेल ने कमलनाथ को मुख्यमंत्री के पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण समारोह में कई औद्योगिक घरानों के प्रतिनिधियों के अलावा कई नेताओं और संतों ने भी भाग लिया। मप्र में 15 साल बाद कांग्रेस सत्ता में लौट रही है।

खुले मैदान में मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में करीब एक लाख लोग जुटे। 25 हजार आमंत्रण कार्ड के अलावा कांग्रेस पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं के लिए खुला आमंत्रण भी दिया था। 

शाम 04:30 बजे
छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल के सिर सजेगा ताज 
मनमोहन, सोनिया और राहुल के साथ आ सकते हैं कमलनाथ 
मध्यप्रदेश मे कमलनाथ को शपथ ग्रहण कराने के बाद छत्तीसगढ़ के भी राज्यपाल का कार्यभार संभाल रही आनंदी बेन पटेल राज्य के भावी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को शपथ दलाने के लिए रायपुर पहुंचेगी । शपथ ग्रहण समारोह रायपुर के साइंस कालेज मैदान में आयोजित किया गया है। इसमें संप्रग चेयरपर्सन सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ व राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के मौजूद रहने की संभावना है।

रविवार दोपहर कांग्रेस विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद भूपेश बघेल साढ़े तीन बजे राजभवन पहुंचे। राज्यपाल की गैरमौजूदगी में उनके सचिव को 68 विधायकों के हस्ताक्षर का पत्र सौंपते हुए सरकार बनाने का दावा पेश किया और राजभवन ने उन्हें आमंत्रित किया।

भूपेश बघेल रविवार शाम रायपुर के शासकीय विज्ञान महाविद्यालय परिसर में होने वाले शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियों का निरीक्षण करने भी पहुंचे।

Posted By: Sachin Bajpai

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस