नई दिल्‍ली, एजेंसी। पीएम नरेंद्र मोदी आज पूर्वोत्‍तर दौरे पर हैं। उन्‍होंने नगालैंड के तुएनसांग जिले में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पूर्वोत्‍तर के विकास के बिना भारत का विकास संभव नहीं है। इसलिए हमारी सरकार 'अष्ट लक्ष्मी' पर विशेष ध्यान दे रही है। वहीं पीएम मोदी ने यह भी कहा कि जो लोग बांटने और झगड़ा करवाने की राजनीति करते हैं, उनको आज इस रैली में आई भीड़ ने बड़ा तमाचा जड़ा है। नगा भाइयों ने हमेशा भारत के मान को बढ़ाया है। यह भी कहा कि पूरे पूवोत्‍तर के लिए मेरा दृष्टिकोण परिवहन से परिवर्तन है।

स्‍थानीय भाषा में अपने भाषण की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि नगालैंड में एक श्रेष्ठ भारत की तस्वीर दिखती है। उन्‍होंने कहा कि हम 'सबका साथ सबका विकास' की नीति पर आगे बढ़ रहे हैं। इसलिए लोग हमारी पार्टी और सरकार का समर्थन कर रहे हैं। यह भी कहा कि आज देश न्यू इंडिया के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है और नगालैंड देश के विकास में अहम भूमिका निभा सकता है।



इस मौके पर पीएम मोदी ने नगालैंड की विकास योजनाओं का भी जिक्र किया। उन्‍होंने कहा कि हमने नगालैंड में 8500 घरों के निर्माण को मंजूरी दी है। नए घरों के निर्माण और पुरानी योजनाओं को पूरा करने के लिए हमने नगालैंड को 160 करोड़ रुपए देने का फैसला किया है। राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन के तहत नगालैंड को 400 करोड़ रुपए दिया जा रहा है।

पीएम मोदी ने यह भी कहा कि हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि नगालैंड में हर घर तक बिजली पहुंचे। हम इसके लिए 'सौभाग्‍यलक्ष्‍मी योजना' लेकर आए हैं, जो सभी घरों को बिजली से रोशन कर देगी। अब तक नगालैंड में 10 लाख से ज्‍यादा एलईडी बल्‍ब वितरित किए जा चुके हैं।

पीएम मोदी ने यह भी कहा कि नगालैंड में कनेक्टिविटी एक बड़ी चुनौती है। इसे खत्‍म करने की दिशा में हम लगातार काम कर रहे हैं। चार साल से भी कम समय में हमने 500 किमी राष्‍ट्रीय राज्‍यमार्गों को जोड़ा है।
हमने नगालैंड की सड़कों में 10,000 करोड़ रुपए से अधिक निवेश की योजना भी बनाई है।

पीएम मोदी ने यह भी कहा कि जैविक खेती का अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर एक बड़ा बाजार है और पूरा पूर्वोत्‍तर इसके लिए काफी क्षमता रखता है। हम किसानों को जैविक खेती की तरफ आगे बढ़ने को प्रोत्‍साहित कर रहे हैं। इससे उनकी आय भी बढ़ेगी।

27 को है राज्‍य में चुनाव

गौरतलब है कि पीएम मोदी नगालैंड के बाद मेघालय रवाना होंगे। दोनों राज्‍यों में 27 फरवरी को विधानसभा चुनाव हैं। असम, अरुणाचल प्रदेश व मणिपुर में सरकार का गठन करने के बाद भाजपा पूर्वोत्‍तर में तेजी से अपना पांव पसारने में जुटी हुई है और इसी वजह 'मोदी मैजिक' की रणनीति भी अपनाई जा रही है।

नगालैंड के तुएनसांग जिले में छह विधानसभा सीटें हैं। भाजपा ने चार सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े किए हैं, जबकि उसकी सहयोगी नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) ने बाकी दो सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं।

मेघालय भी जाएंगे पीएम मोदी

नगालैंड के बाद पीएम मोदी मेघालय रवाना होंगे और वहां के पश्चिम गारो हिल्स जिले में चुनावी रैली करेंगे। यह जिला 1972 में प्रदेश के गठन के बाद से ही कांग्रेस का गढ़ माना जाता है। फुलबारी कस्बे में होने वाली रैली पीएम मोदी की दूसरी चुनावी रैली होगी। भाजपा ने मेघालय की 60 विधानसभा सीटों में से 47 पर अपने उममीदवार खड़े किए हैं और कांग्रेस को सत्‍ता से हटाने की पूरी कोशिश में है।

Edited By: Pratibha Kumari