आइजल, प्रेट्र। मिजोरम में चुनाव से पहले सत्तारूढ़ कांग्रेस को तेज झटका लगा है। सात बार विधायक रहे स्पीकर हिफेई कांग्रेस से इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गए हैं। 40 सदस्यीय मिजोरम विधानसभा के लिए 28 नवंबर को मतदान होगा।

 मिजोरम विधानसभा में पलक क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले हिफेई ने सोमवार को अपने पद, पार्टी और सदन से इस्तीफा दिया। विधानसभा उपाध्यक्ष आर ललरीनवमा ने उनका इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया है। मिजोरम पूर्वोत्तर का इकलौता राज्य है, जहां कांग्रेस सत्ता में है। पिछले दो महीने के दौरान कांग्रेस छोड़ने वाले हिफेई पांचवें विधायक हैं।

मुख्यमंत्री ललथनहवला पर टिकट आवंटन में अनदेखी का आरोप लगाते हुए हिफेई ने कहा कि केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य के स्वायत्त जिला परिषदों को और अधिक अधिकार देने का वादा किया है। इसके लिए राजनाथ ने संविधान की छठी अनुसूची में संशोधन का वादा भी किया है। साथ ही राज्य सरकार को शामिल किए बिना जिला परिषदों को सीधे धन मुहैया कराने का भरोसा भी दिलाया है।

राज्य में भाजपा और उसके सहयोगी दलों की सरकार बनने का दावा करने वाले वाले हिफेई ने पलक से ही भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ने की बात भी कही। हालांकि, अभी इसका औपचारिक एलान नहीं हुआ है। इस बीच, गुवाहाटी में भाजपा नेता और उत्तर पूर्व लोकतांत्रिक गठबंधन (एनईडीए) के संयोजक हेमंत विस्व सरमा ने कहा कि हिफेई जैसे वरिष्ठ नेता के पार्टी में आने से संगठन को मजबूती मिलेगी।

पीएम से सीएम ने की मुख्य निर्वाचन अधिकारी को हटाने की मांग
मिजोरम के मुख्यमंत्री ललथनहवला ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी एस बी शशांक को तत्काल हटाने की मांग की है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि शशांक से लोगों का भरोसा उठ गया है और विधानसभा चुनाव को निर्विघ्न कराने के लिए भी उन्हें हटाया जाना जरूरी है।

दरअसल, मुख्यमंत्री मीडिया में छपी उस खबर के बाद प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है, जिसमें कहा गया था कि शशांक ने राज्य के मुख्य सचिव (गृह) एल चुआंगो पर चुनाव प्रक्रिया में हस्तक्षेप का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग से उनकी शिकायत की थी। इसके बाद गुजरात कैडर के इस आइएएस अधिकारी को चुनाव आयोग ने पद से हटाते हुए केंद्रीय गृहमंत्रालय में रिपोर्ट करने का निर्देश दिया था।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप