मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

मुंबई, प्रेट्र। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए जहां सत्तारूढ़ भाजपा व शिवसेना में सीट बंटवारे को अंतिम रूप नहीं दिया जा सका है, वहीं विपक्षी कांग्रेस तथा राकांपा में मसला सुलझा लिया गया है। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने मंगलवार को बताया कि राज्य की कुल 288 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस 123 व राकांपा 125 सीटों पर ताल ठोकेगी। शेष 41 सीटे गठबंधन के अन्य सहयोगियों के लिए छोड़ी गई हैं।

सीटों की अदला-बदली हो सकती है

दोनों दलों में आपसी सहमति के आधार पर सीटों की अदला-बदली भी हो सकती है। उधर, वंचित बहुजन आघाड़ी के नेता प्रकाश आंबेडकर ने कहा कि कांग्रेस के साथ गठबंधन न करते हुए उनकी पार्टी राज्य की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

41 सीटें सहयोगियों के लिए छोड़ी

कांग्रेस नेता चव्हाण ने कहा, 'आघाड़ी, स्वाभिमानी सेतकारी संगठन व समाजवादी पार्टी से बातचीत चल रही है। अगर इनसे गठबंधन हो जाता है तो 41 सीटें इन्हें दी जाएंगी।' उन्होंने यह भी कहा कि आघाड़ी को कांग्रेस का राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के साथ गठबंधन मंजूर नहीं है।

एएनआइ के अनुसार, आघाड़ी नेता आंबेडकर ने कहा, 'हमारी पार्टी के वरिष्ठ नेता ने दो दिनों पहले कांग्रेस प्रतिनिधियों से बात की। हमने 144-144 सीटों पर चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दिया, लेकिन उधर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।'

आपातकाल की तरह विपक्ष को खत्म करने की कोशिश : चव्हाण

कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने भाजपा की आलोचना करते हुए आपातकाल पर भी निशाना साध दिया। विभिन्न दलों के नेताओं के भाजपा में शामिल होने के मुद्दे पर उन्होंने आरोप लगाया कि पार्टी सत्ता और शक्ति का दुरुपयोग कर रही है।

उन्होंने कहा, 'राजनीतिक दल लोकतांत्रिक व्यवस्था के दिल हैं। फिलहाल उन्हें धमकाया जा रहा है। आपातकाल की तरह देश को एक दलीय शासन की तरफ ले जाने की कोशिश की जा रही है।'

राधाकृष्ण विखे पाटिल, जयदत्त क्षीरसागर व अविनाश महातेकर को राज्य में मंत्री बनाए जाने के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के दौरान वर्ष 2003 में संविधान के 91वें संशोधन में यह प्रावधान किया गया था कि विधानसभा से इस्तीफा देकर दूसरी पार्टी में शामिल होने वाले को मंत्री नहीं बनाया जा सकता। हमने सरकार के निर्णय को हाई कोर्ट में चुनौती दी है।

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप