इंदौर। विधानसभा चुनाव के नतीजे 11 दिसंबर को आना है। आमजन के साथ प्रत्याशियों को भी इसका बेसब्री से इंतजार है। इंदौर जिले की नौ सीटों में से राऊ, विधानसभा क्षेत्र तीन और एक में मुकाबला नजदीकी माना जा रहा है। मतगणना के तीन दिन पहले तीनों विधानसभा क्षेत्रों से चुनाव लड़े प्रमुख दलों के उम्मीदवार जीत को लेकर आत्मविश्वास से भरे दिखे, लेकिन उनके मन में धुकधुकी भी है।

जनता की पसंद कौन होगा, ये 11 दिसंबर को ही पता चलेगा। लेकिन उसके पहले अपनी-अपनी जीत के दावे सुनिए उम्मीदवारों की जुबानी -

'तीन बार घर-घर जाकर मिला हूं'

मैंने चुनाव में कोई कसर बाकी नहीं रखी। टिकट मिलने से पहले घर-घर जाकर लोगों से मिला हूं। पूरे विधानसभा क्षेत्र का तीन बार चक्कर लगाया है। टिकट मिलने के बाद फिर गया। इस बार तो माहौल कांग्रेस का है। जनता बदलाव चाहती है। चाहे कुछ भी हो जाए। इस बार तो एक नंबर में कांग्रेस का ही परचम लहराएगा।

-संजय शुक्ला, कांग्रेस प्रत्याशी विधानसभा-1

'पहले से ज्यादा वोटों से होगी जीत'

पहले शुक्ला के सामने जीतने वोटों से जीता था, इस बार उससे ज्यादा मतों से जीत होगी। पांच साल तक क्षेत्र में सक्रिय रहा हूं। 'विधायक आपके द्वार' के दौरान जनता के काम किए हैं। सरकारी योजनाओं का लाभ भी क्षेत्र की जनता को खूब मिला है। प्रदेश में भी भाजपा की सरकार बनेगी और एक नंबर विधानसभा में भी हैट्रिक होगी।

-सुदर्शन गुप्ता, भाजपा प्रत्याशी, विधानसभा-1

'जितने वोटों से हारा था, उससे ज्यादा की लीड मिलेगी'

पिछला विधानसभा चुनाव मैं 13 हजार वोटों से हारा था। इस बार चुनाव में उससे ज्यादा की लीड से जीतूंगा। जनता का मुझ पर विश्वास ही मेरी जीत का आधार है। मैंने कभी किसी आयोजन के लिए चंदा नहीं मांगा। कभी गलत काम नहीं किया। 15 साल क्षेत्र में विधायकी की, लेकिन कभी आरोप नहीं लगा।

-अश्विन जोशी, कांग्रेस प्रत्याशी, विधानसभा-3

'टिकट मिलते ही जीत तय थी'

जिस दिन मेरा टिकट तीन नंबर विधानसभा के लिए घोषित हुआ, उसी दिन जीत तय हो गई थी। लीड भी तगड़ी मिलेगी। पूरे चुनाव के दौरान जहां भी गया, जनता ने खूब आशीर्वाद दिया। पुराने शहर में काम की काफी गुंजाइश है। मेरा फोकस हमेशा विकास पर ही रहा। महू और दो नंबर में जैसे काम हुए, वैसे अब तीन नंबर विधानसभा में भी होंगे।

-आकाश विजयवर्गीय, भाजपा प्रत्याशी, विधानसभा-3

'वर्मा के वार्ड से भी मुझे लीड मिलेगी'

भाजपा प्रत्याशी मधु वर्मा ने काफी अच्छा चुनाव लड़ा, लेकिन जीत तो मेरी होगी। वे जहां रहते हैं, उस वार्ड से भी मुझे लीड मिलेगी। मैंने विधानसभा क्षेत्र को परिवार माना है और पांच साल एक पारिवारिक सदस्य की तरह ही लोगों से मिला और उनके काम किए। पिछले चुनाव की तुलना में ज्यादा वोटों से जीत मिलेगी।

-जीतू पटवारी, कांग्रेस प्रत्याशी, राऊ विधानसभा

'अति आत्मविश्वास होगा चूर'

कांग्रेस प्रत्याशी का आत्मविश्वास 11 दिसंबर को चूर हो जाएगा। सुबह-सुबह साइकिल चलाने के अलावा उन्होंने किया क्या? जनता समझदार है। उसे विकास के काम चाहिए। पार्षद और आईडीए अध्यक्ष रहते हुए किए विकास कार्यों के कारण बनी मेरी साख ही जीत दिलाएगी। ग्रामीण क्षेत्र से भी अच्छे खासे वोट भाजपा की झोली में आएंगे।

-मधु वर्मा, भाजपा प्रत्याशी, राऊ विधानसभा

Posted By: Saurabh Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप