भोपाल। चुनावों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का उपयोग शुरू होने के बाद मप्र में ऐसा पहली बार हुआ, जब मतगणना शुरू होने के 12 घंटे बाद भी सभी चुनाव परिणाम नहीं आए।

इसकी वजह कांग्रेस-भाजपा द्वारा मतगणना की प्रक्रियाओं में कुछ आपत्तियां और मॉक पोल में हुईं गड़बड़ियां रहीं। मंगलवार को सुबह आठ बजे मतगणना शुरू हो गई थी, लेकिन रात साढ़े आठ बजे तक चुनाव आयोग सिर्फ 46 सीटों पर परिणाम घोषित कर पाया।

चुनाव आयोग के मुताबिक मॉक पोल में हुई गड़बड़ियों की वजह से वोट की गिनती में काफी देर हो गई। पहले चुनाव आयोग को पता चला था कि 144 ईवीएम में मॉक पोल के वोट हटाए नहीं गए। व

हीं मतगणना के दौरान ऐसी करीब 50 ईवीएम और सामने आ गई। इसके बाद मप्र के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय को भारत निर्वाचन आयोग से इन मशीनों से वोट की गिनती करने की अनुमति लेनी पड़ी। अनुमति लेने में काफी समय लग गया।

इसके साथ ही सबसे ज्यादा देर हर राउंड के परिणामों के प्रमाण पत्र देने में चुनाव आयोग के अधिकारियों को काफी समय लगा। हर राउंड के बाद एक शीट पर पीठासीन अधिकारी के साथ-साथ ऑब्जर्वर के दस्तखत के साथ परिणाम घोषित किए गए।

इसके बाद ही दूसरे राउंड की गिनती शुरू हो पाई, इसलिए मतगणना में काफी देर हो गई। चुनाव आयोग के अधिकारियों के मुताबिक मंगलवार को रात करीब 12 बजे तक पूरे परिणाम सामने आएंगे।  

Posted By: Hemant Upadhyay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप