भोपाल। मध्य प्रदेश के मनोनीत मुख्यमंत्री कमलनाथ के सोमवार को शपथ लेने के बाद 21 या 22 दिसंबर को मंत्रिमंडल की शपथ हो सकती है।

मंत्रिमंडल को लेकर कमलनाथ प्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेताओं और एआईसीसी के शीर्ष नेताओं के साथ चर्चा के बाद मंत्रियों के नाम तय करेंगे। इसमें आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर क्षेत्रीय संतुलन के साथ जातीय, अनुभव व युवाओं के प्रतिनिधित्व को ध्यान में रखा जाएगा। कमलनाथ को प्रदेश के दिग्गजों के समर्थक विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल करने की चुनौती भी है।

सूत्र बताते हैं कि कमलनाथ मंत्रिमंडल में डॉ. गोविंद सिंह, केपी सिंह, सज्जन सिंह वर्मा, डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ, आरिफ अकील, बाला बच्चन, बिसाहूलाल सिंह, इमरती देवी, तुलसीराम सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, हुकुमसिंह कराड़ा, नर्मदाप्रसाद प्रजापति जैसे अनुभवी तो जीतू पटवारी, हिना कांवरे, प्रियव्रत सिंह, उमंग सिंघार, तरुण भनोत, संजय शर्मा, सुखदेव पांसे, कमलेश्वर पटेल, सचिन यादव जैसे युवा विधायकों को मौका मिल सकता है। वहीं, निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल गुड्डा व ठा. सुरेंद्र सिंह शेरा भैया भी मंत्रिमंडल में शामिल किए जा सकते हैं। 

Posted By: Hemant Upadhyay

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप