मंदसौर (नईदुनिया)। कांग्रेस के चुनाव अभियान समिति प्रमुख ने ज्योतिरादित्य सिंधिया ने चुनावी रोड मैप के बारे में बताया कि इस बार कांग्रेस सिर्फ चुनाव जीतने के लिए मैदान में है। टिकट वितरण में समर्थकों को नहीं, जीतने वालों को तवज्जो दी जाएगी। इसके लिए एक निष्पक्ष सर्वे भी हो रहा है। कार्यकर्ता चाहें तो उज्जैन संभाग की किसी भी सीट से चुनाव लड़ने के लिए तैयार हूं।

शनिवार सुबह सर्किट हाउस पर पत्रकारों से चर्चा में सिंधिया ने कहा कि पेट्रोल 82 रुपये और डीजल 72 रुपये लीटर बिक रहा है, जबकि यूपीए के समय कच्चा तेल 120 डॉलर प्रति बैरल था तो भी पेट्रोल 70 रुपये और डीजल 55 रुपये लीटर बिक रहा था। 

सिंधिया ने पहनी नीबू-मिर्ची की माला

शुक्रवार रात सिंधिया के रोड शो के दौरान उनके समर्थक ने नीबू-मिर्ची की माला पहना दी। इस पर विधायक यशपालसिंह सिसौदिया ने कहा महाराज भी टोने-टोटके करने लगे हैं। अगली सुबह सिंधिया ने कहा 6 जून 2017 को मंदसौर में किसान गोलीकांड के बाद मैंने संकल्प लिया था कि प्रदेश से भाजपा सरकार हटने तक फूलों की माला नहीं पहनूंगा, तभी से सूत की माला ही पहन रहा हूं। अब जो भी व्यक्ति मुझे फूलों को छोड़कर माला पहना रहा है, स्वीकार करता हूं।

वहीं भाजपा ने इसे सिंधिया को शिवराज सिंह का डर करार दिया है। मंदसौर के भाजपा विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया ने कटाक्ष करते हुए कहा है कि कांग्रेस डरी हुई है। इसलिए सिंधिया को टोने टोटकों का सहारा लेना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि शुरुआत में कांग्रेसी केवल नींबू मिर्च की माला पहन रहे हैं, आगे शिवराज का जादू चलेगा तो इनको झाड़-फूंक भी करवानी पड़ेगी।

पाटीदार की प्रतिमा का अनावरण

इसके पूर्व, मंदसौर के ग्राम बड़वन में सिंधिया ने मंदसौर गोलीकांड में मारे गए घनश्याम धाकड़ की प्रतिमा का अनावरण किया। उन्होंने कहा कि हिमांशी दो महीने की थी, जब उसके पिता का साया छीना है। यह किसी परिवार के साथ नहीं हुई है घटना, सिंधिया परिवार के सदस्यों के साथ हुई है। उन्होंने घनश्याम की पत्नी रेखा, बेटी हिमांशी, पुत्र व पिता दुर्गालाल धाकड़ को मंच पर बुलाया और 13 माह की बेटी हिमांशी को गोद में उठाया।

भ्रष्टाचार का विकेंद्रीकरण

जावरा की आमसभा में सिंधिया ने कहा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने सत्ता का विकेंद्रीकरण किया था, जबकि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने भ्रष्टाचार का विकेंद्रीकरण किया है। मध्य प्रदेश देश में हर जगह कमीशन का खेल चल रहा है।

Posted By: Arti Yadav