नईदुनिया, श्योपुर। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तैयारियों की समीक्षा करने श्योपुर पहुंचे पर्यवेक्षक धर्मेद्र चौधरी के सामने कांग्रेसी एक-दूसरे पर आरोप लगाते हुए जमकर उलझ गए। खास बात यह रही कि जिला अध्यक्ष बृजराज सिंह चौहान से नाराज कांग्रेसियों ने जिला अध्यक्ष के अलावा पहली बार ज्योतिरादित्य सिंधिया की कार्यप्रणाली पर भी प्रश्नचिह्न लगाए। हालांकि, बाद में सौगंध खाई कि घर की बात बाहर नहीं जाने देंगे।

एक होटल में आयोजित बैठक में पूर्व जनपद अध्यक्ष एड. शकील कुरैशी ने कहा कि सिंधिया को अब सामंतवादी सोच से बाहर आना पड़ेगा। उनकी सामंती सोच का खामियाजा निष्ठावान कार्यकर्ताओं को उठाना पड़ रहा है। कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष राहुल चौहान ने कहा कि हमने जिलाध्यक्ष को हटाने के लिए सिंधिया जी को ज्ञापन दिया था। उन्हें हटाने के बजाय उन्होंने उनके भतीजे को युवा कांग्रेस का जिलाध्यक्ष बनाकर कांग्रेस को गर्त में ले जाने का काम किया है।

'आप इसको विरोध के तौर पर मत लो बल्कि ये तो उत्साह है। हमारी पार्टी सत्ता में आ रही है। हमारा कार्यकर्ता काम करने के लिए उत्साहित है। किसी ने सिंधिया का विरोध नहीं किया, बल्कि मुझसे हर सदस्य ने कहा कि हमारी बात सिंधिया तक पहुंचाएं।' - धर्मेद्र सिंह चौधरी, जिला पर्यवेक्षक, कांग्रेस

Posted By: Ravindra Pratap Sing