पटना [जेएनएन]। बिहार में लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में पांच लोकसभा सीटों (बेगूसराय, समस्‍तीपुर, उजियारपुर, मुंगेर व दरभंगा) पर वोट पड़े। गर्मी के बावजूद वोटरों का उत्‍साह कम नहीं दिखा। पहली बार मतदान करने वालों से लेकर लेकर वृद्ध तक कतार में लगे देखे गए।
इस चरण में सोमवार को ईवीएम में प्रत्याशियों का भविष्य तय करने के लिए लोगों का उत्साह देखते बना। दिव्‍यांग ह्वील चेयर पर तो वृद्ध परिजनों के सहारे आते दिखे। पहली बार वोट देने वालों में तो गजब का उत्‍साह देखा गया।
पहली बार मतदान का उत्‍साह
पहली बार मतदान लोकसभा चुनाव में बेगूसराय के चांदपुरा में 18 साल की सपना, कोमल और रश्मि ने पहली बार वोट डाले। उन्‍होंने कहा कि पांच साल का लेखा-जोखा आज तय करना है। वोट नहीं देंगे तो खूबी और खामी कैसे बताएंगे?

समस्‍तीपुर के राेसड़ा में अल्‍पसंख्‍यक समुदाय की युवतियां हों या दरभंगा के कॉलेज छात्र, सभी सुबह से ही मतदान केंद्रों पर दिखे। उजियरापुर में वोट देकर निकले नवयुवक अनुराग गुप्‍ता ने कहा कि पहली बार का यह अनुभव जीवन भर याद रहेगा।

जुगाड़ वाहन से पहुंचे वोट देने
बेगूसराय में जुगाड़ वाहन से वोट डालने पहुंचा एक किसान परिवार जोश में था। पूछने पर इसपर सवार वृद्ध बोले कि इस गाड़ी पर बोरी और खाद ढोते थे। आज इसी पर वोट देने आ गए।

नाव से भी करने गए मतदान
जहां सड़क हो, वहां तो जुगाड़ गाड़ी चल सकती है, लेकिन जहां सड़क ही नहीं हो? ऐसे में मतदाता नाव से भी बूथों पर जाते दिखे। दरभंगा के कुशेश्वरस्थान के दियारा में नाव से मतदान करने जातीं महिलाओं ने कहा कि चाहे जो हो जाए, वोट तो देना ही है।

बुजुर्गों का सहारा बने परिजन
दरभंगा के ही एक मतदान केंद्र पर 95 वर्षीय सावित्री देवी मतदान करने अपनी पोती के साथ पहुंची। ऐसे और भी बुजुर्ग मतदाता परिजनों के सहारे मतदान के लिए बूथों पर पहुंचे।

खटिया पर टांगकर ले जाए गए असतर्थ वृद्ध
लेकिन कई वृद्ध तो चलने में भी असमर्थ दिखे। दरभंगा सीट के बेनीपुर के शिवराम में बूढ़ी और लाचार माँ को खटिया पर टांग कर वोट गिराने के लिये ले जाते परिजन।

कुल मिलाकर बिहार में कड़ी धूप व गर्मी के बावजूद मतदान का उत्‍साह बरकरार रहा। वोट डालने के बाद सेल्‍फी लेने वालों की भी कमी नहीं रही।
 

Posted By: Amit Alok

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप