बांका, जेएनएन। पवित्र मंदार पर्वत और शिवभक्तों की धरती बांका में लोकतंत्र का त्योहार उत्सव की तरह मना। सुबह खुशनुमा मौसम देखकर मतदान शुरू होने से पहले ही मतदाता बूथों पर कतारबद्ध हो गए, लेकिन मॉक पोल में देरी और ईवीएम की गड़बड़ी पर पांच दर्जन से अधिक बूथों पर विलंब से मतदान शुरू हुआ। 

कई बूथों पर डेढ़ घंटे देरी से शुरू हुआ मतदान

विजयनगर, पकडिय़ा, विदायडीह, कोरियाचापर सहित कई बूथों पर एक से डेढ़ घंटा देरी से मतदान आरंभ हुआ। शंभूगंज के रामचुआ बूथ पर एक महिला से दुर्व्‍यवहार किए जाने को लेकर ग्रामीण उग्र हो गए। इस पर पुलिस को भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी। बाद में वरीय पुलिस पदाधिकारी ने वहां पहुंच फिर मतदान शुरू कराया। वहां दो घंटे मतदान बाधित होने के कारण छह बजे के बाद भी वहां मतदान जारी रखा गया। 

ये भी पढ़ें- Rajnath Singh in Odisha : भाजपा की सरकार बनने के बाद देश के हर वर्ग का विकास हुआ- राजनाथ सिंह

यहां वोटराें में रही नाराजगी

धोरैया प्रखंड के झिटका और अमरपुर प्रखंड के धीमड़ा के ग्रामीण सड़क की मांग को लेकर मतदान करने नहीं गए। बाराहाट के पुर सबलपुर स्थित एक मतदान केंद्र पर नाराज समझाने-बुझाने के बाद मतदान किए। वहीं बाराहाट के ही चपरा कोल्हथा बूथ 177 पर सड़क के लिए ग्रामीणों ने वोट नहीं दिया। 

पथराव की भी हुई घटना

इधर, बेलहर, खडिय़ारा सहित दर्जन भर बूथों पर मतदान को लेकर दो पक्षों के बीच झड़प हुई। अमरपुर के रामपुर मतदान केंद्र पर निर्दलीय प्रत्याशी पुतुल कुमारी के पोलिंग एजेंट के साथ कुछ लोगों ने मारपीट की। पहले घंटे मतदान कुछ सुस्त रहा, लेकिन दूसरे घंटे के बाद उसमें गति आ गई। अधिकांश बूथों पर शुरू से आखिर तक पुरुषों की तुलना में महिला मतदाताओं की संख्या अधिक रही। शाम छह बजे तक 58 प्रतिशत मतदान हुआ। चक्काडीह बूथ पर ग्रामीणों ने पुलिस और मतदान कर्मी पर पथराव कर दिया। दो मतदान कर्मी जख्मी हो गए। 

बांका लोकसभा की स्थिति पर एक नजर

20 प्रत्याशी हैं चुनाव मैदान में। जदयू के गिरिधारी यादव, राजद के जयप्रकाश नारायण यादव और निर्दलीय पुतुल कुमारी के बीच त्रिकोणीय मुकाबला

चुनाव की विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस