जागरण संवाददाता, कोलकाता। Lok Sabha Election 2019, लोकसभा चुनाव 2019 का एग्जिट पोल आने के बीच विपक्षी दलों का चुनावी गुणा-भाग जारी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने के एक दिन बाद सोमवार को आंध्र प्रदेश के सीएम और टीडीपी नेता एन. चंद्रबाबू नायडू ने तृणमूल कांग्रेस प्रमुख व पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की। ममता बनर्जी के कालीघाट स्थित आवास पर दोनों नेताओं के बीच करीब 45 मिनट तक बैठक चली।

सूत्रों ने बताया कि दोनों नेताओं ने बैठक में चुनाव नतीजे आने के बाद की रणनीति को लेकर चर्चा की। इस बात को लेकर भी चर्चा हुई कि कैसे विपक्षी एकजुटता को बहाल रख भाजपा विरोधी दलों के बीच न्यूनतम साझा कार्यक्रम (सीएमपी) निर्धारित किया जाय। बताया जाता है कि ममता चाहती हैं कि नतीजे आने के बाद वे क्षेत्रीय दल जो भाजपा के खिलाफ मुखर रहे हैं, उन्हें एकजुट रख आगे का सियासी समीकरण निर्धारित किया जाय।

उल्लेखनीय है कि पहले यह कहा जा रहा था कि दोनों नेता बैठक के बाद साझा प्रेस कांफ्रेंस करेंगे, लेकिन ऐसा हो न सका। नायडू एयरपोर्ट से सीधे ममता के आवास पर पहुंचे और यहां पत्रकारों से बचते हुए सीधे एयरपोर्ट रवाना हो गए।

अखिलेश से फोन पर की बात

दूसरी ओर, ममता बनर्जी ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी फोन पर करीब सात मिनट तक बात की है। ममता ने कहा कि मेरी अखिलेश यादव के साथ बात हुई है, उन्होंने आश्र्वस्त किया कि उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन को कम से कम 50 सीटों पर जीत मिलेगी। बता दें कि रविवार को ही ममता बनर्जी ने एग्जिट पोल को गॉसिप करार दिया था और कहा था कि उन्हें जनादेश पर विश्वास है।


 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vinay