कोलकाता, जेएनएन। लोकतंत्र के महोत्सव का आखिरी चरण रविवार को बंगाल में हिंसा के बीच समाप्त हुआ। चुनाव आयोग के तमाम प्रबंध के बावजूद मतदान के दौरान बमबाजी, गोलीबारी, आगजनी, तोड़फोड़, प्रत्याशियों पर हमला, वोटरों को धमकी व गांवों व घरों में रोकने के लिए उपाय सब कुछ हुआ। हिंसा में 50 से अधिक लोगों के जख्मी होने की खबर है। खुलेआम हाथों में बम व आग्नेयास्त्र लेकर अपराधियों को देखा गया। जिलों व दूरदराज के इलाकों की बात छोड़ें कोलकाता में जमकर बमबाजी हुई। प्रत्याशियों तक को निशाना बनाया गया।

दर्जनों बूथों पर ईवीएम खराब होने की वजह से मतदान शुरू होने में दो से चार घंटे तक की देरी हुई। सिर्फ लोकसभा मतदान के दौरान ही नहीं बल्कि विधानसभा उपचुनाव को लेकर भाटपाड़ा और इस्लामपुर ¨हसा को लेकर चर्चा में रहा। भाटपाड़ा में तो शनिवार की रात से ही हिंसा शुरू हो गई थी। इन हिंसा के बावजूद लोगों का उत्साह कम नहीं हुआ और अन्य चरणों की तरह ही जमकर वोट डाले जिसका नतीजा रहा है कि शाम पांच बजे तक 73 फीसद से अधिक वोट पड़े।

हिंसा की घटनाओं ने एक बार फिर बंगाल को पूरे देश में कुख्यात कर दिया कि यहां बिना हिंसा का चुनाव संपन्न नहीं हो सकता। क्योंकि, पिछले छह चरणों में लगातार हर मतदान के दिन हिंसक घटनाएं हुई हैं। हिंसक घटनाओं को देखकर ही आयोग ने सातवें चरण में सौ फीसद बूथों पर 710 कंपनी केंद्रीय बल तैनात किया था। इसके बावजूद कुछ नहीं हो पाया और खुलेआम बूथों, सड़कों व गांवों में गुंडागर्दी होती रही। हालांकि, इन सबके बीच एक सकुन है कि इतनी अशांति व बाधाओं के बावजूद घरों से निकलकर लोग वोट डालने पहुंचे। भले ही गोली चली, बम फटे और धारदार हथियारों से हमले हुए। इन घटनाओं में 20 से अधिक लोगों की गिरफ्तारी भी हुई है। वैसे तो घायलों की संख्या 50 से अधिक है। परंतु, आयोग ने विभिन्न घटनाओं में 21 लोगों जख्मी होने की पुष्टि की है। चुनाव धांधली में शामिल रहने की वजह से एक पीठासीन अधिकारियों को हटाया भी गया। वहीं, कई एफआइआर दर्ज किए गए हैं।

शनिवार की शाम से शुरू हुई हिंसा ने रविवार को 9 सीटों पर चल रहे मतदान के दौरान और विकराल हो गया। इन घटनाओं में 50 से अधिक लोग जख्मी हुए हैं। यह तो दूर-दराज के गांव की घटना हुई। यहां तक कोलकाता के व्यावसायिक केंद्र बड़ाबाजार के रवींद्र सरणी, पोस्ता में बमबाजी व फुलबागान में चार बम फेंके गए लेकिन वे फटे नहीं। तिलजला में भाजपा प्रत्याशी राहुल सिन्हा पर पथराव किया गया, जिसमें एक मीडिया कर्मी जख्मी हो गए। नौ संसदीय सीटों में से एक भी क्षेत्र शायद ही बचा होगा, जहां हिंसा की खबरें नहीं आई। कई इलाकों में बूथों पर विरोधी दलों के समर्थक वोटरों को जाने नहीं देने का आरोप तृणमूल पर लगा। सुबह छह बजे से लेकर मतदान के अंत तक जितने भी हमले हुए हैं, उन सभी का आरोप तृणमूल पर लगा है। हमले, बमबाजी और गोलीबारी के बावजूद मतदाताओं ने मतदान में जबर्दस्त उत्साह दिखाया और पांच बजे तक 73 फीसद से अधिक मतदान हुआ है।

शनिवार की रात से रविवार को पूरे दिन मारपीट, संघर्ष, बमबाजी, धमकियों के बीच सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ और शाम छह बजे तक चलता रहा। युवक-युवती से लेकर बुजुर्ग महिला-पुरुष की लंबी लाइन विभिन्न बूथों पर लगी रही। बूथों पर मतदाताओं को धमकी देने, बूथों पर कब्जा और विरोधी दलों के पोलिंग एजेंटों के साथ मारपीट व बूथ में नहीं घुसने देने का आरोप सत्तारूढ़ दल पर लगा।

अंतिम चरण में कोलकाता समेत उत्तर व दक्षिण 24 परगना जिले की 9 लोकसभा सीटों पर आज मतदान हुआ। 710 कंपनी केंद्रीय बल व हजारों राज्य पुलिस के जवानों की तैनाती थी। 17042 बूथों पर 1.49 करोड़ में से करीब 73 फीसद से अधिक लोगों ने 111 उम्मीदवारों का भाग्य ईवीएम में कैद कर दिया।

इस चरण में तृणमूल प्रमुख व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। वहीं भाजपा को मोदी लहर से काफी उम्मीद है। यह चरण महान समाज सुधारक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़े जाने की की घटना के साये में हो रहा है। भाजपा व तृणमूल के बीच कड़ी टक्कर की वजह से ¨हसा मानी जा रही है। क्योंकि, सत्तारूढ़ तृणमूल 42 सीटें जीतना चाहती है तो भाजपा 23 से अधिक सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है। यह सभी नौ सीटों पर तृणमूल का कब्जा है।

भाजपा प्रत्याशी अनुपम ने लगाया गंभीर आरोप 

जादवपुर से भाजपा उम्मीदवार प्रोफेसर अनुपम हाजरा ने तृणमूल पर कई बूथों पर वोटिंग में गड़बड़ी करने और भाजपा कार्यकर्ताओं की पिटाई करने का आरोप लगाया। उन्होंने कई बूथों का दौरा करने के बाद आरोप लगाया कि तृणमूल की महिला कार्यकर्ता बुर्का पहनकर फर्जी वोटिंग कर रही हैं। उन्हें पहचानना मुश्किल है। जब हमने इस पर आपत्ति की तो उन्होंने पोलिंग स्टेशन पर हंगामा किया। हाजरा ने कहा कि तृणमूल के गुंडों ने भाजपा मंडल अध्यक्ष और ड्राइवर की पिटाई की है। कार पर हमला किया है। हमने अपने तीन पोलिंग एजेंटों को बचाया है। तृणमूल के गुंडे 52 बूथों पर गड़बड़ी कर रहे हैं। लोग भाजपा को वोट डालने को उत्सुक हैं लेकिन वे लोगों को वोट नहीं डालने दे रहे हैं। जादवपुर के बारुईपुर के राजगड़ा के 251 नंबर बूथ पर तृणमूल कार्यकर्ताओं पर मतदाताओं को प्रभावित करने का आरोप लगा है। इस सिलसिले में तृणमूल नेता अजीजुर रहमान को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया गया।

मथुरापुर में बूथ कैप्चरिंग का आरोप
वहीं, मथुरापुर लोकसभा क्षेत्र में महिला मतदाताओं ने बूथ कैप्चरिंग का आरोप लगाया है। यहां के मोगराहाट में कई महिलाएं हाथों में डंडे लेकर सड़क पर उतरीं और बूथ पर कब्जे का आरोप लगाते हुए तृणमूल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। कोलकाता दक्षिण संसदीय सीट की कसबा विधानसभा में दो पोलिंग बूथों पर मतदाताओं की पिटाई की घटना सामने आई है।

बशीरहाट व दमदम में वोट देने से रोकने का आरोप
वहीं, बशीरहाट लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी सायंतन बसु ने आरोप लगाया है कि तृणमूल के कार्यकर्ता लोगों को वोट देने से रोक रहे हैं। बसु का आरोप है कि 100 लोगों को वोट डालने से रोका गया है। हम उन्हें मतदान के लिए लेकर जाएंगे। इधर, बीजेपी ने दमदम लोकसभा क्षेत्र में भी कई बूथों पर तृणमूल के कार्यकर्ता पर लोगों को वोट डालने से रोकने का आरोप लगाया है। भाजपा का कहना है कि तृणमूल कार्यकर्ताओं को हार दिख रही है, इसलिए बौखलाहट में हिंसा की जा रही है। दूसरी तरफ, कोलकाता दक्षिण से तृणमूल उम्मीदवार माला रॉय ने आरोप लगाया कि जब वह अपना वोट डालने पहुंचीं तो उन्हें केंद्रीय बलों के जवानों ने पोलिंग बूथ के अंदर जाने से रोक दिया।

पिछले छह चरणों में भी जमकर हुई थी हिंसा
बंगाल में इससे पहले पिछले छह चरणों के मतदान के दौरान भी तृणमूल और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच जमकर हिंसक झड़प हुई थी। इसमें कई लोक बुरी तरह जख्मी हुए थे। बमबाजी व गोलीबारी की घटनाएं भी सामने आई थी। 

तृणमूल करा सकती है नरसंहार : निर्मला सीतारमण 
इस बीच, बंगाल में अंतिम चरण के मतदान के दौरान जारी ¨हसा पर रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि नतीजे पक्ष में न रहने पर तृणमूल नरसंहार करा सकती है। उन्होंने कहा कि तृणमूल की हिंसा के खिलाफ भाजपा का प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से शिकायत करेगा।

भाटपाड़ा में बमबाजी, पुलिस की गाड़ी में तोड़फोड़

भाटपाड़ा में बमबाजी हुई। इस दौरान ईंट से हमले भी किए गए पुलिस की गाड़ी में तोड़फोड़ भी की गई। स्थिति नियंत्रित करने लिए पुलिस ने लाठी चार्ज किया। भाटपाड़ा विधानसभा सीट पर उपचुनाव हुआ।

भाटपाड़ा में फिर बमबाजी
भाटपाड़ा विधानसभा उपचुनाव के दौरान कुछ देर पहले फिर बमबाजी हुई। इससे मतदाताओं व स्थानीय लोगों में दहशत है। घटना के कारण वोटर रास्ते से घर लौट गए। गत रात इलाके में दो वाहनों को फूंक दिया गया था। बमबाजी और गोलीबारी भी की गई थी।

जवानों पर तृणमूल महिलाकर्मियों से दुर्व्यवहार का आरोप

दमदम के पानीहाटी में केंद्रीय बल के जवानों पर महिला तृणमूल कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया गया। तृणमूल महिला कर्मियों का कहना है वे बूथ की सीमा से बाहर अपने पार्टी कैंप में थीं। जवानों ने उन पर बोतल में पानी के साथ नशे की दवा मिलाने का आरोप लगाया है। इसे लेकर विवाद हुआ।

क्यूआरटी पर हमला
मतदान के दौरान बारासात लोकसभा क्षेत्र के शासन इलाके में क्विक रेस्पांस टीम (क्यूआरटी) पर हमला। टीम पर ईंटें चलाई गईं।
20 बम बरामद

बारासात लोकसभा क्षेत्र के न्यू टाउन इलाके में 20 बम बरामद किए गए। काफी देर से इलाके में दो ड्रम पड़े थे। पुलिस द्वारा जांच करने पर उसमें बम पाए गए। इलाके में तनाव है।

रिपोर्ट तलब
बादुड़िया के 219 नंबर बूथ पर फर्जी मतदान की शिकायत मिलने को लेकर चुनाव आयोग ने डीईओ से विस्तृत रिपोर्ट तलब किया है। यहां आरोप लगा है कि किसी अन्य मतदाता का वोट कोई और दे दे रहा है। यहां मतदान केंद्र से 200 मीटर के दायरे में बाहरी लोगों के जामायत की शिकायत भी चुनाव आयोग से की गई है। इस पर संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने यह कदम उठाया है।

बशीरहाट में मतदान में धांधली का आरोप
219 बूथ पर एक महिला मतददाता ने आरोप लगाया कि उसका वोट किसी और ने दे दिया। बूथ 220 पर भी इसी तरह का आरोप लगाया गया है। यहां पहुंचे कई मतदाताओं ने आरोप लगाया कि उन्हें वोट देने में बाधा पहुंचाई गई। धमकियां दी गईं, ताकि वे वोट नहीं दें।

बमबाजी से तनाव
उत्तर कोलकाता संसदीय क्षेत्र के रवींद्र सरणी में मतदान केंद्र से कुछ दूरी पर बमबाजी की गई। आरोप है कि कई बदमाश बाइक पर सवार होकर अचानक पहुंचे। वे बम फेंककर चलते बने। इलाके में तनाव है।

मतदान करने आए अधेड़ की गर्मी से मौत
डायमंड हार्बर लोकसभा क्षेत्र के नदा खाली अंतर्गत रानिया कास्ट पाड़ा स्कूल में बने 207 नंबर बूथ में मतदान करने आए अधिर मंडल नामक अधेड़ की गर्मी से मौत हो गई।

अनुपम हाजरा का आरोप
जादवपुर में पोलिंग बूथ नंबर 150/137 पर भाजपा सांसद उम्मीदवार अनुपम हाजरा के मुताबिक, महिला टीएमसी कार्यकर्ता मुंह ढक कर वोट डाल रही हैं, उनकी पहचान करना मुश्किल है। जब हमने इस पर आपत्ति जताई तो उन्होंने मतदान केंद्र पर हंगामा कर दिया। इस बीच, अनुपम हाजरा की कार पर हमले की भी खबर है। 

उत्तर कोलकाता संसदीय सीट के भाजपा उम्मीदवार राहुल सिन्हा को निशाना बना कर ईंट चलाने का मामला सामने आया है। घटना 59 नंबर वार्ड में हुई।

कोलकाता नॉर्थ से बीजेपी के उम्मीदवार राहुल सिन्हा ने जादवपुर में बिजॉयगढ़ शिक्षाशास्त्र फॉर गर्ल्स में मतदान केंद्र पर अपना वोट डाला।

दक्षिण कोलकाता संसदीय क्षेत्र से भाजपा के लोकसभा उम्मीदवार सीके बोस ने कोलकाता के सिटी कॉलेज में एक मतदान केंद्र पर अपना वोट डाला।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप