लखनऊ, जेएनएन। भाजपा ने उत्तर प्रदेश में 50 फीसद से ज्यादा वोट हासिल करने का लक्ष्य रखा और इस मिशन के लिए परदे के पीछे सशक्त टीम काम कर रही थी। नेतृत्व ने चप्पे-चप्पे पर 'चौकीदारों' को बैठाकर विपक्ष की हर गतिविधि पर नजर रखी। साथ ही सरकार के कार्यों के प्रचार और विपक्ष पर लगातार आक्रामकता बनाये रखी।

भाजपा ने चुनाव प्रबंधन, विशेष चुनाव अभियान, प्रचार अभियान, कार्यक्रम, सभा एवं रैली, सोशल मीडिया, आइटी, मीडिया एवं मीडिया वॉच, शोध एवं विश्लेषण, व्यवस्था विभाग और वॉर रूम बनाकर चुनावी अभियान को न केवल तेज किया बल्कि विपक्ष की खामियों को भी उजागर किया। भाजपा की इस टीम ने माहौल बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने इन टीमों में विशेषज्ञों और पदाधिकारियों को शामिल किया। बंसल लगातार इनकी मॉनीटरिंग भी कर रहे थे। लोकसभा चुनाव प्रभारी, केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने भी बराबर मार्गदर्शन किया।

चुनाव प्रबंधन संभाल रहे प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर की टीम में अरुणकांत, अशोक द्विवेदी, ज्ञान प्रकाश ओझा और संजीव भारद्वाज को शामिल किया गया था। विशेष चुनाव अभियान की जिम्मेदारी प्रदेश उपाध्यक्ष जसवंत सैनी, प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक, सलिल विश्नोई, अशोक कटारिया, प्रदेश मंत्री संतोष सिंह, प्रकाश पाल और शिवभूषण सिंह को दी गई थी। मीडिया एवं मीडिया वॉच का नेतृत्व भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनीष दीक्षित संभाल रहे थे। प्रचार अभियान के लिए भाजपा के प्रदेश महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ल और मंत्री अमरपाल मौर्या को जिम्मेदारी मिली थी।

प्रदेश मंत्री अनूप गुप्ता और पुष्पेंद्र त्यागी को कार्यक्रम समन्वय का दायित्व था जबकि सभा और रैलियों का जिम्मा प्रदेश मंत्री त्रयंबक त्रिपाठी को मिला था। सोशल मीडिया और आइटी वालंटियर को सक्रिय करने के लिए प्रदेश प्रवक्ता संजय राय, अंकित चंदेल और विनीत मालवीय लगे थे जबकि आइटी की जिम्मेदारी कामेश्वर मिश्रा ने संभाली। शोध एवं विश्लेषण विभाग आलोक पांडेय और वॉर रूम से कुणाल भाटिया, नलिन भटनागर, स्वाति सिंह और ऋचा शर्मा ने प्रदेश के एक-एक बूथ तक संपर्क बनाये रखा। चुनाव आयोग से संपर्क एवं विधि विभाग में वरिष्ठ अधिवक्ता अखिलेश अवस्थी और प्रशांत सिंह अटल को मौका मिला था।

एक लाख 60 हजार बूथों तक था सीधा संपर्क

ब्रज क्षेत्र में तैनात किये गए भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चंद्र श्रीवास्तव बताते हैं कि संगठन महामंत्री सुनील बंसल सभी 80 लोकसभा क्षेत्र में नियमित संवाद बनाये थे। एक लाख 60 हजार बूथों तक पार्टी का सीधा संपर्क था। पार्टी के सभी प्रदेश प्रवक्ता, मीडिया टीम और प्रदेश पदाधिकारियों को क्षेत्रों में जिम्मेदारी दी गई थी। भाजपा ने मिशन के लिए सुनियोजित खाका तैयार किया था।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Umesh Tiwari