लखनऊ, जेएनएन। लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें और अंतिम चरण में प्रदेश के 11 जिलों की 13 सीटों पर 56.84 प्रतिशत मतदान हुआ। 2014 के मुकाबले सातवें चरण में 1.88 फीसद मतदान बढ़ा है। सर्वाधिक मतदान महराजगंज संसदीय क्षेत्र और सबसे कम बलिया में हुआ। मतदान समाप्त होने के साथ इस चरण के 167 उम्मीदवारों की तकदीर इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में बंद हो गई।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू ने मतदान का ब्यौरा दिया। लू ने सातवें चरण में महराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मीरजापुर और राबर्ट्सगंज क्षेत्र में सकुशल और शांतिपूर्ण तरीके से मतदान का दावा किया। कुशीनगर, चंदौली और वाराणसी को छोड़कर बाकी सभी क्षेत्रों में 2014 के मुकाबले मतदान प्रतिशत बढ़ा है। पुलिस महानिरीक्षक कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार ने बताया कि मतदान के दौरान चंदौली में हुई घटना में दो मुकदमे पंजीकृत किये गये हैं। उल्लेखनीय है वहां पर विधायक साधना सिंह से पुलिसकर्मियों के विवाद के बाद दो मुकदमे दर्ज हुए। एक मुकदमा पुलिस की तरफ से दूसरा विरोधी पक्ष ने दर्ज कराया है। 

धीरे-धीरे बढ़ता रहा मतदान

शाम को छह बचे तक के हुए मतदान के दौरान महराजगंज में गति बराकरार रही। महराजगंज में वोटर लगातार बढ़ते ही रहे। महराजगंज में 62.40 प्रतिशत मतदान हुआ। बलिया में मतदाता शाम छह बजे तक भी उदास ही रहे। यहां पर 52.50 मतदान हुआ। पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 58.05 व गोरखपुर में 57.38 प्रतिशत मतदान हो गया है।

शाम को पांच बचे तक यानी तीन से पांच तक दो घंटा में भी मतदान धीमी गति में ही रहा। महराजगंज में गति बराकरार रही। नौ बजे से पांच बजे तक महराजगंज में वोटर लगातार बढ़ते ही रहे। महराजगंज में 57.80 प्रतिशत मतदान हुआ। बलिया में मतदाता शाम पांच बजे तक भी उदास ही रहे। यहां पर 48.80 मतदान हुआ। पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 52.90 व गोरखपुर में 54.80 प्रतिशत मतदान हो गया है। 

दिन में तीन बजे तक महराजगंज ने सर्वाधिक मतदान प्रतिशत में अपनी बढ़त बरकरार रखी। तीन बजे तक महाराजगंज में 52.40 प्रतिशत वोट डाला गया था। मिर्जापुर में 50.01, वाराणसी में 43.71 व गोरखपुर में 46.91 प्रतिशत मतदान हो गया था। एक से तीन बजे के बीच में सबसे कम मतदान बलिया में 42.56 प्रतिशत रहा था। दिन में एक बजे तक 36.44 प्रतिशत मतदान हो गया था। महराजगंज में नौ से 11 बजे तक प्रदेश में सर्वाधिक मतदान हुआ था। एक बजे तक भी महराजगंज में सर्वाधिक 38.68 प्रतिशत मतदान हो गया था। चंदौली में सबसे कम 34.20 प्रतिशत मतदान हुआ। पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 36.80 तथा गोरखपुर में 38.16 प्रतिशत मतदान हो गया था। 

लोकसभा चुनाव में अंतिम चरण के मतदान के दौरान आज दिन चढ़ते ही मतदाता भी बाहर निकले। सुबह सात से नौ बजे के बीच जहां 10.06 प्रतिशत मतदान हुआ था, वह 11 बजे तक 22.62 प्रतिशत पर पहुंच गया। चार घंटे के मतदान के दौरान कहीं पर ईवीएम की खराबी तथा बहस के बीच भी मतदाता पोलिंग बूथ पर उमड़े। 11 बजे तक महाराजगंज में सबसे अधिक 26 प्रतिशत मतदान हो गया था। घोसी में मतदाता उदास दिख रहे हैं। यहां पर 20.99 फीसदी वोट पड़े । 

सातवें चरण में मतदान प्रतिशत

लोकसभा क्षेत्र   7-9 बजे      9-11 बजे      11-1 बजे    1-3 बजे     3-5 बजे      5-6 बजे 

महराजगंज      8.90           26.00           38.68        52.40         57.80          62.40

गोरखपुर       11.07           23.62            38.16        46.91         54.80          57.38

कुशनीगर        9.30           21.00            37.00         47.90        53.60           56.24

देवरिया         11.02           21.40            36.34          45.26       53.26           56.02

बांसगांव         9.87            23.40            36.86          44.92       52.21            55.00

घोसी            9.45              20.99            36.80          45.32       53.60            56.90

सलेमपुर          9.24          23.60             34.84          43.00       51.21            54.60

बलिया           8.70            21.00             34.92            42.56     48.80            52.50

गाजीपुर         10.75          22.88             37.65            45.89      54.29            58.10

चंदौली         10.18             22.42             34.20            45.00      52.80           57.26

वाराणसी        9.90            23.10              36.80           43.71       52.90           58.05

मिर्जापुर       13.20            24.70             35.96            50.01       54.32           60.20

राबर्ट्सगंज      9.15             20.20             35.51           47.30        51.92          54.29

महराजगंज में 62.40 प्रतिशत मतदान 

सातवें चरण में महराजगंज संसदीय क्षेत्र में सर्वाधिक 62.40 प्रतिशत मतदान हुआ है। वर्ष 2014 में हुए चुनाव में 60.84 प्रतिशत मतदान हुआ था। सबसे कम मतदान बलिया लोकसभा क्षेत्र में 52.50 प्रतिशत हुआ लेकिन 2014 के मुकाबले यह बहुत ज्यादा है। 2014 में बलिया में 48.27 फीसद मतदान हुआ था। 

आगरा उत्तरी विधानसभा में 39 फीसद वोट 

विधायक जगन प्रसाद गर्ग के निधन के बाद आगरा उत्तरी विधानसभा में उप चुनाव में 39 प्रतिशत मतदान हुए। 

मतगणना होगी पारदर्शी 

मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू ने बताया कि मतगणना पारदर्शी होगी और इसकी पूरी व्यवस्था दुरुस्त की गई है। उन्होंने निर्वाचन आयोग को सहयोग देने वाली सभी संस्थाओं के प्रति आभार जताया।

मिर्जापुर में पहले दो घंटा में उमड़े मतदाता, बलिया में उदासीन

इससे पहले सत्रहवीं लोकसभा के अंतिम चरण के मतदान में आज पहले दो घंटा यानी सात से नौ बजे के बीच 13 लोकसभा में 10.06 प्रतिशत मतदान हो गया । इसमें मिर्जापुर में सर्वाधिक 13.20 प्रतिशत मतदान हुआ है जबकि बलिया व महराजगंज में मतदाता उदासीन हैं। बलिया में 8.70 तथा महराजगंज में 8.90 प्रतिशत मतदान हुआ । पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में 9.90 तथा सीएम योगी आदित्यनाथ की कर्मस्थली गोरखपुर में नौ बजे तक 11.07 प्रतिशत मतदान हो गया था। 

उत्तर प्रदेश में अंतिम चरण में महराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मीरजापुर और राबर्ट्सगंज संसदीय क्षेत्रों में मतदान हो गया। 

छठवें चरण में सबसे कम मतदान

पहले चरण में आठ सीटों के लिए जहां 63.88 प्रतिशत मतदान हुआ था, वहीं दूसरे चरण में भी आठ सीटों के लिए 62.39, तीसरे में 10 सीटों के लिए 61.42, चौथे में 13 सीटों के लिए 57.58, पांचवें में 14 सीटों के लिए 58.02 प्रतिशत मतदान और छठवें चरण में 16 जिलों के 14 संसदीय क्षेत्रों में 54.12 फीसद मतदान हुआ था। वहीं रविवार को सातवें और अंतिम चरण में प्रदेश के 11 जिलों की 13 सीटों पर 56.84 प्रतिशत मतदान हुआ। 

वाराणसी में ईवीएम खराब होने से कई जगह शुरुआत में मतदान बाधित

वाराणसी में गलियों के मुहल्ले अगस्त कुंडा स्थित इंदिरा गांधी स्कूल में बिजली नही होने से अंधेरा होने के कारण वोटिंग बाधित रही। वाराणसी में ईवीएम खराब होने से कई जगह शुरुआत में मतदान बाधित रहा। बूथ नंबर 228 में ईवीएम गड़बड़, डाफी में एक ईवीएम मशीन खराब, पूर्व माध्यमिक विद्यालय शिवपुर बूथ नं 43 की ईवीएम मशीन खराब, शिवपुर में बूथ नं,42 का इवीएम मशीन, बूथ संख्या 228 व 229 में ईवीएम गड़बड़ होने से मतदान बाधित रहा, रोहनिया के जगतपुर बूथ न 114 में इवीएम मशीन ख़राब, रोहनिया विधान सभा के भरथरा गांव के बूथ संख्या 56 पर ईवीएम मशीन खराब होने से लगभग 40 मिनट विलम्ब से मतदान, उत्तरी विस के बूथ संख्या 166 और छावनी के बूथ संख्या 50 में ईवीएम मशीन खराब, बूथ नंबर 229 पर 55 मिनट देर से शुरू हुआ मतदान। बीएचयू में भाग संख्या 337 पर 45 मिनट देरी से वोटिंग शुरू हुई। मॉडर्न बूथ प्राथमिक विद्यालय खोजवां में मशीन खराब रही।आधा घण्टे मतदान प्रभावित रहा। छावनी के बूथ संख्या 222 पर सीयू बदलने के बाद मतदान एक घंटा देरी से शुरू हुआ। उत्तरी विस के बूथ संख्या 167 पर ईवीएम मशीन खराब होने से मतदान कुछ देर तक प्रभावित रहा।

उत्तरी विस के बूथ संख्या 166 और छावनी के बूथ संख्या 50 में ईवीएम मशीन खराब होने से मतदान प्रभावित रहा। अजगरा बूथ नं. 356 पर आठ बजे तक दिक्क‍त की वजह से मतदान शुरू नहीं हुआ। शहर दक्षिणी स्थित बूथ संख्या 252 पर मतदान शुरू होने के कुछ देर बाद ईवीएम मशीन खराब।  वहीं बूथ नम्बर 228 पर एक घंटे बाद भी नही शुरू हो सका।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा- BJP अपने दम पर जीतेगी 300 लोकसभा सीट 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज सुबह गोरखपुर में मतदान किया। उन्होंने सुबह सात बजे मतदान किया।मुख्यमंत्री ने गोरखपुर शहर के प्राथमिक पाठशाला गोरखनाथ, झूलेलाल मंदिर के सामने स्थित मतदान केंद्र में मतदान किया। सुबह सबसे पहले वोट डालने पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ पोलिंग बूथ नंबर 246 में वोट डाला।

मुख्यमंत्री को चुनाव अधिकारी ने पहला वोट डालने का सर्टिफिकेट भी दिया।उन्होंने कहा कि मैं बहुत भाग्यशाली हूं कि लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा के प्रचार अभियान का अंग रहा। इस वृहद अभियान को मैंने बखूबी अंजाम दिया।  सीएम योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में वोट डालने के बाद कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी अपने दम पर 300 लोकसभा सीटें और सहयोगियों के साथ मिल कर 400 सीटें जीतने में कामयाब होगी। साथ ही यूपी में 74 प्लस का लक्ष्य भी प्राप्त करेगी। उन्होंने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के चुनाव के अंतिम चरण के अंतिम मतदान की प्रक्रिया प्रारंभ हुई है। मुझे भी इस महापर्व में गोरखपुर में अपने मतदान केंद्र पर मतदान करने का अवसर मिला है। सीएम ने कहा कि पूरे देश के अंदर लोकतंत्र के इस महापर्व के प्रति आम जन में जो उत्साह और जो उमंग देखने को मिला है वो भारत के परिपक्व लोकतंत्र का एक उदाहरण है।

योगी ने कहा कि हम विश्वास के साथ कह सकते हैं कि लोकतंत्र का ये पर्व लोगों ने जिस रचनात्मक तरीके से लिया है कि देश हित में काम करोगे, जनहित में निर्णय लोगे तभी सार्वजनिक जीवन में टिके रह पाओगे अन्यथा सार्वजनिक जीवन में कोई जगह नहीं होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने सातों चरणों को पूरे देश में देखा है जब पूरा चुनाव पीएम मोदी के इर्द गिर्द ही टिका रहा। लोगों के मन में जो उत्साह जो लालसा पांच वर्ष के कामों के प्रति देखने को मिला है। आजादी के बाद पहली बार जातिवाद, क्षेत्रवाद, वंशवाद की दीवारें दरकती हुई देखने को मिली हैं ये भारतीय लोकतंत्र के लिए एक शुभलक्षण है। उन्होंने कहा कि यूपी में 6 चरणों के चुनाव संपन्न हो चुके हैं। शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव संपन्न करने की जो प्रतिद्धता थी उसको भी पूरा किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ल, मंडलायुक्त जयंत नारलीकर, कांग्रेस प्रत्याशी मधुसूदन त्रिपाठी, महापौर सीताराम जायसवाल समेत कई गणमान्य लोगों ने शुरुआती चरण में मतदान किया।

पीएम मोदी समेत कई दिग्गज मैदान में

लोकसभा चुनाव 2019 के अंतिम चरण में 2.36 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर 167 प्रत्याशियों की तकदीर तय करेंगे। इस चरण में जो सियासी दिग्गज और चर्चित चेहरे चुनाव मैदान में हैं, उनमें वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गाजीपुर से केंद्रीय संचार मंत्री मनोज सिन्हा, चंदौली से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ.महेंद्र नाथ पांडेय, मीरजापुर से केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल, कुशीनगर से पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आरपीएन सिंह, महाराजगंज से भाजपा सांसद व प्रत्याशी पंकज चौधरी और गोरखपुर से भाजपा प्रत्याशी के तौर पर भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता रवि किशन शामिल हैं।

पिछले चुनाव में हुआ 54.96 फीसद मतदान

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में इन संसदीय क्षेत्रों में कुल 54.96 प्रतिशत मतदान हुआ था। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा ने इन 13 में से 12 सीटें जीती थीं जबकि उसके सहयोगी अपना दल के खाते में मीरजापुर सीट गई थी। बाद में उपचुनाव में गोरखपुर सीट पर सपा ने कब्जा कर लिया था।

वाराणसी में सबसे ज्यादा प्रत्याशी

सातवें चरण में सबसे ज्यादा चर्चित वाराणसी संसदीय क्षेत्र में सर्वाधिक 26 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं सबसे कम चार उम्मीदवार बांसगांव में हैं। घोसी व सलेमपुर में 15, महराजगंज, कुशीनगर व गाजीपुर में 14, चंदौली में 13, राबर्ट्सगंज में 12, देवरिया में 11, गोरखपुर व बलिया में 10 और मीरजापुर में नौ प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इस चरण में प्रमुख रूप से भाजपा के 11, कांग्रेस के 10, बसपा के पांच, सपा के आठ और सीपीआइ के चार प्रत्याशी हैं। बाकी अन्य दलों के या निर्दल उम्मीदवार हैं।

घोसी में सर्वाधिक वोटर

सातवें चरण में घोसी संसदीय क्षेत्र में सर्वाधिक 19,85,203 मतदाता हैं जबकि सलेमपुर में सबसे कम 16,60,069 वोटर हैं।

सातवां चरण : एक नजर में

पुरुष मतदाता : 1,28,18,440

महिला मतदाता : 1,08,18,931

थर्ड जेंडर मतदाता : 1,426

महिला प्रत्याशी : 13

ईवीएम (आरक्षित सहित) : 31,187 बैलट यूनिट, 29,802 कंट्रोल यूनिट

वीवीपैट : 31,831

मतदान में लगे कुल कार्मिक : 1,12,439

मतदान में लगे हल्के वाहन : 4,114

मतदान में लगे भारी वाहन : 6,178

आजमगढ़ के करउत में पुनर्मतदान, 56.66 फीसद वोटिंग

आजमगढ़ जिले की 69-आजमगढ़ सदर संसदीय क्षेत्र के 346-मुबारकपुर विधानसभा क्षेत्र के मतदेय स्थल संख्या 337-प्राथमिक विद्यालय करउत में पुनर्मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हो गया। 12 मई को छठवें चरण में हुए चुनाव से अधिक उत्साह मतदाताओं में देखने को मिला। सुबह ही मतदाता लाइन में लग गए थे। यही कारण रहा कि मतदान फीसद घंटे दर घंटे कम नहीं हुआ। पुनर्मतदान में कुल 56.66 फीसद वोटरों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। खास बात यह रही कि फ्रेश चुनाव की अपेक्षा इस बार 4.56 फीसद अधिक मत पड़े।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dharmendra Pandey