राज्य ब्यूरो, लखनऊ। केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने बसपा अध्यक्ष मायावती के प्रति हमदर्दी जताते हुए आशंका व्यक्त की है कि सपा के लोग उन पर चुनाव से पहले या बाद में हमला कर सकते हैं। उमा ने कहा कि मेरा फोन नंबर सबको पता है, मायावती भी उसे अपनी जेब में रखें और जब संकट आए तो फोन करें।

उन्हें हम ही बचायेंगे। लखनऊ पहुंची उमा भारती ने सपा-बसपा गठबंधन पर तंज कसते हुए कहा कि जब गेस्ट हाउस में मायावती पर हमला हुआ था तो भाजपा विधायक ब्रह्मादत्त द्विवेदी ने उनकी जान बचाई थी। अब वह नहीं हैं तो मैं उनकी सुरक्षा करूंगी। उमा ने कहा कि सपा के लोग मायावती पर जरूर हमला करेंगे।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा एक साथ चुनाव मैदान में उतरे हैं। सीटों पर बनी सहमति के तहत राज्‍य में सपा 37 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, जबकि बसपा 38 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है। तीन सीट राष्‍ट्रीय लोकदल (RLD) को दिया गया है। आरएलडी मथुरा, मुजफ्फरनगर और बागपत से चुनाव लड़ेगी। रायबरेली और अमेठी लोकसभा क्षेत्र को कांग्रेस के लिए छोड़ा गया है।

क्या है गेस्ट हाउस कांड :

दो जून 1995 को मायावती लखनऊ में मीराबाई स्टेट गेस्ट हाउस में थीं। इस दौरान भीड़ ने उस गेस्ट हाउस को घेर लिया और जमकर हंगामा किया। भीड़ में सपा से जुड़े कई चेहरे भी शामिल थे। मायावती ने खुद को कमरे में बंद कर लिया तो उसका दरवाजा तोड़ने की कोशिश भी की गई थी। सत्ताबल के आगे पुलिस मूकदर्शक खड़ी दिखी।

घटना की सूचना मिलने पर भाजपा नेता ब्रह्मदत्त द्विवेदी और लालजी टंडन मौके पर पहुंचे और भाजपा कार्यकर्ताओं की मदद से मायावती को जैसे-तैसे सुरक्षित निकाला। 

Posted By: Sanjeev Tiwari