रांची, [आशीष झा]। Lok Sabha Election 2019 - देश के लोग इस बात के गवाह रहे हैं कि चुनाव में बड़े-छोटे और अमीर-गरीब का भेदभाव मतदाता नहीं करते। यही कारण है कि गरीब से गरीब लोग चुनाव जीतकर हमारे प्रतिनिधि बने हैं तो अमीरों ने भी कई बार अपनी लोकप्रियता से सभी को चकित कर दिया है। एक बार फिर आम चुनाव में इसी तरह का दृश्य है।

पहले चरण के चुनाव में जिन 58 लोगों की दावेदारी सामने आई है उनमें पेंशनभोगी से लेकर बेरोजगार तक हैं। किसान, व्यवसायी, ठेकेदार, वेतनभोगी और पशुपालक भी मैदान में डटे हैं। बड़ी बात यह कि दो तिहाई उम्मीदवारों के पास इतनी संपत्ति (चल-अचल मिलाकर) भी नहीं है जितना चुनाव में खर्च करने की छूट (75 लाख रुपये) है। हालांकि इसके लिए लोगों को विभिन्न प्रकार से चंदे वगैरह मिलते हैं। आप इस बात से भी धैर्य धर सकते हैं कि उम्मीदवारों में कोई भी लखपति से कम नहीं है। 

पेंशन पानेवाले प्रमुख उम्मीदवारों में वीडी राम व घूरन राम शामिल हैं। दोनों करोड़पति उम्मीदवारों में शामिल भी हैं। इसके अलावा करोड़पति उम्मीदवारों में वेतन भोगियों को देखें तो सुनील कुमार सिंह, वीडी राम और सुदर्शन भगत (तीनों सांसद) और सुखदेव भगत व मनोज कुमार यादव (दोनों विधायक) प्रमुख तौर पर शामिल हैं। चुनाव आयोग में दाखिल शपथपत्र में दस सर्वाधिक आमदनी वाले लोगों में इनके नाम हैं।

सर्वाधिक आयकर रिटर्न दाखिल करनेवाले उम्मीदवारों में जो टॉप टेन हैं उन्होंने 23 हजार रुपये से लेकर दो लाख 80 हजार रुपये तक की मासिक आय दिखाई है और मजेदार बात यह है कि सभी करोड़पति हैं। सबसे कम संपत्ति दिखानेवाले उम्मीदवारों में अधिसंख्य के पास पैतृक संपत्ति और कृषि योग्य भूखंड है और इसी आमदनी से वे अपना घर-परिवार चलाते हैं। 

पहले चरण में 38 फीसद उम्मीदवार 50 से पार
झारखंड में 29 अप्रैल को पहले चरण के तहत जिन तीन सीटों पर मतदान होना है, वहां 38 फीसद उम्मीदवारों की आयु 50 वर्ष से ऊपर है। पलामू के निर्दलीय उम्मीदवार जोरावर राम सबसे बुजुर्ग उम्मीदवार हैं जो 69 वर्ष के हैं। पलामू के ही भाजपा के उम्मीदवार व वर्तमान सांसद वीडी राम दूसरे स्थान पर हैं जो 68 वर्ष के हैं। चतरा के पूर्वांचल जनता पार्टी के उम्मीदवार आशुतोष कुमार तथा लोहरदगा के निर्दलीय अंबर सौरभ सबसे युवा और महज 25 वर्ष के हैं।

पलामू, लोहरदगा तथा चतरा में चुनाव लड़ रहे 59 उम्मीदवारों में एक पलामू के निर्दलीय उम्मीदवार उदय कुमार पासवान ने शपथपत्र में अपनी आयु नहीं बताई है। शेष 58 उम्मीदवारों में 22 उम्मीदवारों की आयु 51 से 70 वर्ष के बीच है। वहीं, 35 उम्मीदवारों की आयु 25 से 50 वर्ष के बीच है। पलामू में जोरावर राम सबसे वृद्ध तथा निर्दलीय उम्मीदवार विजय कुमार महज 28 वर्ष के हैं। चतरा में निर्दलीय उम्मीदवार जे अंसारी सबसे अधिक वृद्ध हैं जो 66 वर्ष के हैं। आशुतोष कुमार सबसे युवा हैं। इसी तरह, लोहरदगा में निर्दलीय चुनाव लड़ रहे एकुस धान सबसे अधिक 65 वर्ष के हैं। वहीं, अंबर सौरभ महज 25 वर्ष के हैं।  

वर्तमान सांसदों में विजय हांसदा सबसे युवा, कडिय़ा सबसे बुजुर्ग
वर्तमान सांसदों में राजमहल के विजय हांसदा सबसे युवा हैं। इनकी आयु वर्ष 2014 में महज 31 वर्ष थी। विजय इस बार भी झामुमो के टिकट पर राजमहल से ही चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, खूंटी के सांसद कडिय़ा मुंडा सबसे बुजुर्ग हैं। वर्ष 2014 में इनकी आयु 77 वर्ष थी। इस बार भाजपा ने इन्हें टिकट नहीं दिया है।  

सबसे कम संपत्ति वाले दस उम्मीदवार 
नाम         क्षेत्र      दल        चल संपत्ति    अचल संपत्ति    कुल 
बगेंद्र राम    चतरा   निर्दलीय   5.58 लाख    4.75 लाख     10.33 लाख
उमेश कु. पासवान  पलामू   वोटर्स पार्टी     4.5  लाख  5.5 लाख 10 लाख
श्रवण कुमार रवि   पलामू   निर्दलीय    1.55 लाख   8 लाख   9.55 लाख 

मदन राम   पलामू    सीपीआइ (एमएल)   43 हजार  8 लाख  8.43 लाख
धनंजय कुमार   चतरा   निर्दलीय   6.7 लाख  0.00    6.7  लाख
उदय कुमार पासवान    पलामू  अन्य  1.27 लाख   3.50 लाख 4.77 लाख 
प्रयाग राम    पलामू    अन्य       44 हजार    2.00 लाख   2.44 लाख 

बबन भुइयां   पलामू   जेपी जनता दल   2.00 लाख   0.00   2.00 लाख 
विजय राम    पलामू     निर्दलीय     81 हजार   50 हजार  1.31 लाख 
प्रामेद टोप्पो   चतरा    निर्दलीय   1.30 लाख  0.00   1.3 लाख 

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप