कोलकाता, जेएनएन। लोकसभा चुनाव से पहले पश्चिम बंगाल में बोलपुर संसदीय सीट से तृणमूल के निष्कासित सांसद अनुपम हाजरा ने मंगलवार को भाजपा का दामन थाम लिया। नई दिल्ली में पश्चिम बंगाल भाजपा प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय व पश्चिम बंगाल चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष मुकुल राय ने उन्हें पार्टी का झंडा थमाया।

हाजरा के साथ बागदा से कांग्रेस विधायक दुलाल बर व हबीबपुर से माकपा विधायक खगेन मुर्मू ने भी भाजपा का दामन थाम लिया। इसके साथ ही कोलकाता से कुछ अल्पसंख्यक नेताओं ने भी पश्चिम बंगाल भाजपा इकाई में शामिल होने की घोषणा की। 

उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले से ही अनुपम हाजरा के भाजपा में शामिल होने की चर्चा चल रही थी।
सूत्रों के अनुसार, हाजरा ने भाजपा के समक्ष बोलपुर संसदीय सीट से चुनाव लड़ने का प्रस्ताव रखा था जिसे भाजपा ने स्वीकार कर लिया। इससे पहले सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर विवादास्पद पोस्ट व पार्टी के खिलाफ गतिविधियों में शामिल होने को लेकर तृणमूल ने उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया था। बकौल हाजरा उन्हें कुछ दिनों से तृणमूल की ओर से कई प्रकार की धमकियां दी जा रही थी। भाजपा की ओर से उन्हें सुरक्षा प्रदान करने का आश्वासन दिया गया जिसके बाद उन्होंने भाजपा में शामिल होने का निर्णय लिया।

इस मौके पर मुकुल राय ने कहा कि बंगाल में ममता बनर्जी के खिलाफ लहर है और तृणमूल के साथ कांग्रेस और माकपा भी ममता के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि बंगाल में ममता बनर्जी पुलिस राज चला रही हैं और विपक्षी नेताओं को फंसाने की धमकी दी जा रही है। उन्होंने दावा किया कि आने वाले दिनों में और कई नेता भाजपा में शामिल होंगे। वहीं, कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि तृणमूल की तानाशाही सरकार के साथ ममता बनर्जी का शिखर से शून्य तक गिरने का समय अब आ गया है। उन्होंने कहा कि मोदी का विरोध करते हुए ममता बनर्जी देश का भी विरोध करने लगी हैं। उनके द्वारा यह कहा जाना कि एक और स्ट्राइक होने वाला है पाकिस्तान को फायदा पहुंचाने वाला है।

यह भी पढ़ेंः बंगाल में टीएमसी के 42 प्रत्याशी घोषित, जानें कौन कहां से लड़ेगा चुनाव

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप