श्रीनगर, एएनआई। लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) के सातों चरण का मतदान रविवार को पूरा हो चुका है। इसके साथ ही रविवार शाम को तमाम एक्जिट पोल भी सामने आ चुके हैं। लगभग सभी एक्जिट पोल के रुझान ‘एक बार फिर मोदी सरकार’ की तरफ इशारा कर रहे हैं। वहीं विपक्षी पार्टियों को ये बात हजम नहीं हो रही है। लिहाजा विपक्षी पार्टियां एक्जिट पोल के रुझानों पर सवाल खड़े कर रही हैं।

विपक्षी पार्टियों के इस रुख पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉफ्रेंस पार्टी के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने विपक्षी पार्टियों को तंज कसते हुए नसीहत दी है। उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि समय आ गया है कि टेलिविजन बंद कर दिया जाए, क्योंकि सभी एक्जिट पोल के रुझान गलत नहीं हो सकते। उमर अब्दुल्ला ने रविवार शाम को एक्जिट पोल के रुझान और उस पर विपक्षी पार्टियों की प्रतिक्रिया सामने आने के बाद इस संबंध में कुछ ट्वीट किए हैं।

उमर अब्दुल्ला ने पहला ट्वीट रविवार शाम करीब सात बजे किया है, जब कुछ एक्जिट पोल में स्थिति लगभग स्पष्ट की जा चुकी थी। उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ‘सभी एक्जिट पोल गलत नहीं हो सकते! टीवी बंद करने और सोशल मीडिया लॉग आउट करने का समय आ गया है। इसके बाद भी जिन्हें लग रहा है कि दुनिया अब भी अपनी धुरी पर घूम रही है, वह 23 मई को होने वाली मतगणना का इंतजार करें।’

उमर अब्दुल्ला ने दूसरा ट्वीट रविवार रात करीब साढ़े नौ बजे किया है। अपने दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा है, ‘अगर आपका एक्जिट पोल न्यूज चैनल के स्टूडियो में उड़ नहीं रहा, तो आप पहले ही दर्शकों के लिए मैदान हार चुके हैं।’ उनके इस व्यंग्यात्मक ट्वीट का मतलब है कि जिन राजनीतिक पार्टियों को एक्जिट पोल में जगह नहीं मिल सकी है या जो एक्जिट पोल में जीत के आसपास भी नहीं दिख रहीं है, वो दर्शकों की नजर में मतगणना से पहले ही चुनावी मैदान हार चुके हैं। उमर अब्दुल्ला के दोनों ट्वीट उन विपक्षी पार्टियों के लिए करारा जवाब हैं, जिन्होंने केंद्र में एक बार फिर से भाजपा नेतृत्व की एनडीए सरकार बनने के रुझानों को सिरे से खारिज कर दिया है।

मालूम हो कि रविवार को अंतिम चरण का मतदान खत्म होने के बाद तमाम सर्वे में भाजपा के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार की केंद्र में फिर वापसी का संकेत दिया गया है। कुछ एक्जिट पोल में एनडीए को बहुमत के करीब तक कुछ को बहुतम के पार दिखाया जा रहा है। इन सर्वे में भाजपा को उत्तर प्रदेश में भारी नुकसान होने के बावजूद, पश्चिम बंगाल समेत पूर्वोत्तर और दक्षिण भारत में काफी फायदा होते हुए दिखाया गया है। 17वीं लोकसभा के लिए सात चरणों में हुए लोकसभा चुनावों की मतगणना 23 मई को होगी। 23 मई की सुबह से ही रुझान सामने आने लगेंगे। रात तक अंतिम परिणाम सामने आने की उम्मीद है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Amit Singh