रांची, आईएएनएस। Lok Sabha Election 2019 - झारखंड में चुनावी तपिश परवान पर है। यहां उम्‍मीदवारों के समर्थक, पार्टी कार्यकर्ता की कौन कहे, नेताओं की जीवनसंगिनी भी पूरी रणनीति के साथ चुनाव प्रचार में कूद पड़ी हैं। सुबह से शाम तक वे अपने पति के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चुनाव जीतने की जुगत तलाशने में जुटी हैं। चाहे खूंटी से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे पूर्व मुख्‍यमंत्री अर्जुन मुंडा हों, हजारीबाग से चुनावी मैदान में डटे केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्‍हा हों या फिर धनबाद से कांग्रेस के टिकट पर भाग्‍य आजमाने पहुंचे पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद हों। इन सब नेताओं की पत्नियां पूरे दमखम के साथ प्रचार अभियान चला रही हैं। कैंपेन के हर मोर्चे पर वे बखूबी अपने पति का साथ देते हुए थोक में पसीना बहा रही हैं।

झारखंड में बचे अंतिम तीन चरणों के चुनाव में इन राजनीतिक दिग्गजों की पत्नियां भरी दुपहरी में पसीना बहाते हुए मतदाताओं से सहज भाव से वोट मांग रही हैं। खूंटी से उम्‍मीदवार पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा की पत्‍नी मीरा मुंडा राज्‍य की सत्‍तारुढ़ भाजपा सरकार से नाराज चल रहे लोगों के बीच पति की पूरी बायोग्राफी लेकर पहुंची हैं। 1995 से लेकर 2014 तक एक विधायक के रूप में उनके पति के किए विकास कार्यों को वे उंगली पर गिना देती हैं। सीएनटी में संशोधन के लिए राज्य सरकार के प्रति जनता के गुस्से को दूर करने के लिए वे कड़ी मेहनत कर रही हैं। खरसावां विधानसभा और खूंटी लोकसभा सीट के अन्य क्षेत्रों में प्रचार कर रहीं मीरा मुंडा अपने पति के काम को याद दिलाते हुए जनता से उनके पक्ष में मतदान की अपील कर रही हैं।

हजारीबाग में अपने पति केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री जयंत सिन्हा के लिए प्रचार कर रहीं पुनीता सिन्हा इस दौरान मतदाताओं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए कार्यों के बारे में बताती हैं। वह निर्वाचन क्षेत्र और कोडरमा और हजारीबाग के बीच रेलवे लाइन की प्रगति के बारे में लोगों को याद दिलाने में भी पीछे नहीं रहतीं।

बिहार में महागठबंधन के चलते राजद के खाते में जाने के बाद दरभंगा सीट छोड़कर झारखंड के धनबाद से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने पहुंचे दिग्‍गज क्रिकेटर कीर्ति झा आजाद की पत्‍नी पूनम आजाद भी कतई पीछे नहीं हैं। कांग्रेस की अंदरुनी कलह में घिरे पति कीर्ति आजाद के लिए वोट मांगते हुए वह बताती हैं कि उन्होंने रांची वीमेंस कॉलेज से पढ़ाई की है। संसदीय क्षेत्र के मतदाताओं से जुड़ने की कोशिश में पूनम अपने आपको उनकी बहू तक बता रही हैं।

रांची में रेखा सहाय अपने पति पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस उम्‍मीदवार सुबोधकांत सहाय के लिए चुनाव प्रचार कर रही हैं। पति की मदद के लिए रेखा सहाय ने कई महिलाओं को चुनाव मैदान में उतारा है। वहीं इन सबसे उलट झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा अपनी पत्नी गीता कोड़ा के लिए जमकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। गीता कोड़ा चाईबासा से झारखंड के भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा के खिलाफ कांग्रेस पार्टी की उम्मीदवार हैं। अभी गीता जगन्नाथपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक भी हैं। भ्रष्टाचार के संगीन आरोपों के चलते मधु कोड़ा इस बार चुनाव नहीं लड़ रहे हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस