कानपुर, जेएनएन। बिधनू के माधवबाग बाजार में शुक्रवार को अकबरपुर लोकसभा प्रत्याशी महेंद्र सिंह यादव के लिए रैली करने पहुंचे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि न नेताजी ने मायावती को बहन बनाया और न ही मैंने तो वह बुआ कैसे हो गईं। डिम्पल माया के पैरों में गिर गईं, जबकि मेरे पास आकर केवल यही कहते चलो चाचा वापस घर चलो तो क्या बिगड़ जाता। लेकिन अपनों से ज्यादा मायावती के पैर अनमोल हैं। डिंपल ने कुर्सी के खातिर खानदान का सम्मान मिट्टी में मिला दिया।
उन्होंने कहा कि मैंने लंबे समय तक नेता जी के साथ सपा को बढ़ाने में योगदान दिया। हम पार्टी नहीं बनाना चाहते थे, जिसकेलिए इंतजार भी किया और प्रयास भी किया। लोहिया व चरन सिंह के विचारों और मुलायम सिंह के जो विचार थे उस पर चलने वाले पार्टी के लोगों ने मुझे झुकने को कहा। मैंने केवल जिम्मेदारी मांगी थी। मैंने कहा था कि उत्तर प्रदेश में नहीं किसी प्रदेश की जिम्मेदारी दे दो। सपा अब लोहिया और चरण सिंह के विचारों के विरुद्ध काम कर रही है। अब गंदे लोग सपा में आ गए है।
इन्हीं गलत काम करने वाले लोगों का विरोध किया तो मुझे दरकिनार कर दिया गया। उन्होंने जनता से पूछा कि क्या भाजपा ने भ्रष्टाचार खत्म किया, 15 लाख खाते में डाले, अच्छे दिन आए।  आज खाद बोरी में 50 किलो की जगह 45 किलो दी जा रही है। आज भी हमारे नौजवान सैनिक शहीद हो रहे हैं। अखिलेश पर हमला बोलते हुए कहा कि जिसने अपने पिता और मुझे धोखा दिया। जो बाप और चाचा का नहीं हुआ वह आपका क्या होगा। मेरी नई पार्टी है फिर भी मेरे 11 प्रदेशों से प्रत्याशी लड़ रहे हैं। कहा, अब चुप नही बैठूंगा, 2022 में फिर मैं लडूंगा।  

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप