प्रयागराज : लोक सभा चुनाव निकट है। चुनाव की तैयारियां भी जोरों पर है। एेसे में अगर हम पुराने समय में जाएं तो चुनाव के दौरान अनेक रोचक संस्‍मरण हुए हैं। यह संस्‍मरण लोगों के दिलों तक पहुंच गए, जो आज भी याद हैं। ऐसे ही एक रोचक दास्‍तां हम आपको बताएंगे वर्ष 2004 के लोक सभा चुनाव का। तत्‍कालीन जनसभा में भीड़ देखकर ही सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने मंच से ही सपा प्रत्‍याशी रेवती रमण सिंह के जीत की भविष्यवाणी कर दी गई थी। अंतत: जीत भी उन्‍हीं की हुई।

2004 में रेवती रमण व मुरली मनोहर जोशी में मुकाबला
वर्ष 1999 के लोकसभा चुनाव में कुंवर रेवती रमण सिंह अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा प्रत्याशी मुरली मनोहर जोशी से चुनाव जीत नहीं पाए थे। यह प्रतिद्वंद्विता बरकरार थी। इसलिए 2004 में जब समाजवादी पार्टी ने उन्हें फिर इलाहाबाद लोकसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा तो उन्होंने तत्कालीन मुख्यमंत्री और उस समय पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव की जनसभा का आयोजन संसदीय क्षेत्र में कराया।

डॉ. जोशी को हराना कठिन माना जा रहा था
भाजपा के दिग्गज नेताओं में शुमार मुरली मनोहर जोशी इस संसदीय क्षेत्र से 1996 से लेकर 1999 तक लगातार तीन बार जीते थे। उन्हें यहां से हराना कठिन माना जा रहा था। इसलिए 2004 के आम चुनाव में समाजवादी पार्टी ने अपनी पूरी ताकत इलाहाबाद संसदीय सीट छीनने के लिए झोंक दी थी। माना जा रहा था कि अगर मुलायम सिंह यादव की एक  सभा यहां होगी तो सपा के पक्ष में टेंपों और हाई हो जाएगा। यही हुआ भी। कोरांव विधानसभा क्षेत्र में पडऩे वाले गोपाल विद्यालय में सभा रखी गई।

भीड़ देख मुलायम ने कहा, रेवती रमण आप जीत रहे हैं
सपा की रणनीति यह थी कि अगर उसने ग्रामीण मतदाताओं को अपनी ओर खींच लिया तो कुंवर रेवती रमण सिंह को जीतने से कोई भी रोक नहीं सकता है। ऐसा हुआ भी। कोरांव के गोपाल विद्यालय में हुई मुलायम की सभा में लोगों का जनसैलाब उमड़ा। भीड़ देखकर वह बहुत खुश नजर आ रहे थे। अपने भाषण के दौरान उन्होंने कहा था 'लोगों की यह भीड़ बता रही है कि इस चुनाव में कुंवर रेवती रमण सिंह जीत रहे हैं। इसका एलान में आज ही कर रहा हूं। इंतजार बस चुनाव परिणाम का है, ताकि जीत का अंतर पता चल सके।'

...और रेवती रमण जीत गए चुनाव
मुलायम ने जैसा अनुमान लगाया था, वैसा ही हुआ। कुंवर रेवती रमण इलाहाबाद सीट से चुनाव जीते। वह पहली बार इलाहाबाद लोकसभा सीट से सांसद हुए थे। मुरली मनोहर जोशी इलाहाबाद सीट से लगातार चौथी बार जीतने का रिकार्ड नहीं बना सके। सपा के प्रदेश प्रवक्ता विनय कुशवाहा बताते हैं कि रेवती रमण को कुल 2,34, 001 वोट मिले थे। मुरली मनोहर जोशी को 2,05,592 वोट मिले थे। रेवती रमण की यह जीत 28,409 वोटों से हुई थी।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस