कटिहार [संजीव राय]। 72 वर्षीय मो. महबूल के जज्बे को सलाम। बीमार अवस्था में भी उन्होंने लोकतंत्र के इस महापर्व में अपनी सहभागिता के लिए ऐसी जिद ठानी कि परिजन भी मजबूर हो गए। आखिर उनके लिए चारपाई की व्यवस्था की गई और उन्हें खाट पर लाद नदी पार कराते हुए बूथ तक ले जाया गया। अंतत: वोट डालने के बाद महबूल को सुकून मिली। महबूल ने कहा कि यह देश के लिए जरूरी है। अगर कोई वोट नहीं डालता है तो समझिए वह अपने अहम कर्तव्य से पिछड़ रहा है। 

यद्यपि इसके पीछे महबूल ही नहीं, इस पूरे गांव का दर्द भी छिपा हुआ है। दरअसल कोढ़ा प्रखंड के कोसी धार के चुरलीघाट पर पुल नहीं होने से विनोदपुर पंचायत के वार्ड संख्या 12 दानीपुर गांव के लोगों को धार पार कर बूथ तक जाना पड़ता है। यह आम दिनों की भी समस्या है। फिलहाल महापर्व को लेकर उनका उत्साह कहीं से कम नहीं रहा।

महिला-पुरुष मतदाता खेतों के बीच बनी पगडंडी से गुजरकर चुरबीघाट नदी तैरकर प्राथमिक बी चुरबीघाट मतदान केंद्र संख्या 143 पहुंच अपने मताधिकार का उपयोग किया। इस दौरान बुजुर्ग व महिला मतदाताओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। जहां महिलाओं को नदी के पानी से भींगे कपड़ों में मतदान करने के लिए लंबी कतारों में घंटों खड़ा रहना पड़ा, वहीं बुजुर्ग मतदाताओं को परिजनों द्वारा चारपाई पर नदी पार कराया गया।

इन परेशानियों के बाबजूद मतदाताओं के चेहरों पर लोकतंत्र के महापर्व में अहम भूमिका निभाने की खुशी झलक रही थी। इस गांव में करीब नौ सौ मतदाता हैं। आजाद अली, मु. हन्नान, मु.रहीम, मु. नौशाद, जमशेद, खेरून निशा, जिलेखा खातून, राधा देवी, तारा देवी, नूरजहां खातून आदि ने बताया कि आजादी के बाद से ही नदी तैरकर वोट डालने जा रहे हैं। इस संदर्भ में कई बार जनप्रतिनिधियों सहित प्रशासन से गांव में मतदान केंद्र बनवाने की मांग की गई, परंतु आज तक गांव में मतदान केंद्र नहीं बनाया गया। 

उधर कटिहार में आधा दर्जन बूथों पर ईवीएम में गड़बड़ी के कारण मतदान देर से प्रारंभ हुआ। संसदीय क्षेत्र के 1667 मतदान केंद्र तथा पूर्णिया लोकसभा के अंतर्गत आने वाले जिले के कोढ़ा विधानसभा क्षेत्र के 262 मतदान केंद्रों पर सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था रही। सुबह से ही मतदान को लेकर बूथों पर मतदाताओं की कतार लगनी शुरू हो गई। महिला व युवा मतदाताओं में मतदान को लेकर खासा उत्साह रहा। दिन चढऩे के साथ ही मतदाताओं की भीड़ मतदान केंद्रों पर उमड़ जुटने लगी। शहर के वार्ड नंबर पांच के कई वोटर मतदाता सूची में गड़बड़ी की शिकायत लेकर समाहरणालय पहुंचे।

समाहरणालय पहुंचे कई मतदाताओं ने बताया कि वोटर लिस्ट से कई मतदाता का नाम गायब है। एक मतदाता ने बताया कि वोटर लिस्ट में उन्हें विलोपित दिखाया गया है। मतदाताओं ने कहा कि जिला निर्वाचन पदाधिकारी से मताधिकार के प्रयोग को लेकर गुहार लगाने पहुंचे हैं। हलांकि तत्काल इन मतदाताओं की समस्या का समाधान नहीं हो पाया। पूर्वाह्न 11 बजे तक मतदान केंद्रों पर पुरूष मतदाताओं से लंबी कतार महिला मतदाताओं की देखी गई। शहर के महिला कॉलेज बूथ पर मतदान के लिए पहुंचे कई युवा मतदाताओं ने कहा कि चुनाव में वे पहली बार वोट करेंगे। मतदान को लेकर उत्साहित हैं। ईवीएम में तकनीकी गड़बड़ी के कारण प्राणपुर एवं अमदाबाद के चार बूथों पर डेढ़ घंटे से देर से मतदान शुरू हुआ। 

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस