रांची, वेब डेस्क। Exit Poll 2019 - Jharkhand Exit Poll 2019 - झारखंड के लिए तमाम एजेंसियों के मिले-जुले एग्जिट पोल सामने आए हैं। आज तक ने जहां कांग्रेस समेत दूसरे विपक्षी दलों झारखंड मुक्ति मोर्चा, झारखंड विकास मोर्चा, राष्‍ट्रीय जनता दल का सूपड़ा साफ होने का अनुमान लगाया है। वहीं एबीपी न्‍यूज, न्‍यूज 24, सीएनएक्‍स आदि सर्वे एजेंसियों ने यहां एनडीए और महागठबंधन के बीच कड़ी टक्कर के आसार बताए हैं। 

लोकसभा चुनाव का एग्जिट पोल सामने आने के बाद बहस-मुबाहिसे और विश्‍लेषण से सोशल मीडिया भी अछूता नहीं है। उत्‍साही सोशल मीडिया यूजर्स का जोश देखते बन रहा है। चाहे फेसबुक हो या ट्विटर। यहां यूजर्स मीम्स और जोक्स के जरिए अपनी खासी क्रिएटिविटी दिखा रहे हैं। एक्जिट पोल के बाद सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा 'आएगा तो मोदी ही' हैशटैग छाया रहा। लोग कांग्रेस पर करारे तंज कसने से भी बाज नहीं आ रहे। 

चौकीदार राज मिश्रा नाम के ट्विटर यूजर ने अपनी क्रिएटिविटी दिखाते हुए लिखा, 'एग्जिट पोल देखने के बाद  मिठाई दुकान वालों ने कांग्रेस और महागठबंधन वालों से मिठाई का ऑर्डर लेना बंद कर दिया, कहा- पहले पूरा पेमेंट करिए'। यूजर ने चुटकी ली कि जानकारी मिल रही है कि मिठाई दुकानों पर एडवांस वापस करने को लेकर कांग्रेस और महागठबंधन के लोग दुकानदारों से भिड़ रहे हैं।

राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार ने अपने ट्वीट में लिखा है कि एग्जिट पोल के नतीजे भी भाजपा-एनडीए के पक्ष में, कांग्रेस की मायूसी बढ़ी, हार का ठीकरा फोड़ने के लिए उपयुक्त चेहरे की तलाश जारी। वे अपने दूसरे ट्वीट में कहते हैं- बाकी जो है सो है, लेकिन नगरी-नगरी द्वारे-द्वारे भटककर चंदा (विपक्षी एकता) को ढूंढ़ने निकले सितारे। चंद्रबाबू जी को एग्जिट पोल वाले 4-6 पर ही सलटा दे रहे हैं। अब इनकी कोई सुनेगा भी? बेचारे... सिर मुंडाते ही ओले पड़े।

कांग्रेस नेता फुरकान अंसारी एग्जिट पोल के लिए मीडिया को दोषी ठहरा रहे हैं। वे अपने ट्वीट में लिखते हैं- आंकड़ों और अंकों का खेल शुरू हो गया है। गोदी मीडिया के सभी एग्जिट पोल मोदी एंड कंपनी को 300+ सीटें देने की होड़ में लग गए हैं। लेकिन देश की जनता सब जानती है। 23 मई को जब नतीजे आने शुरू होंगे, तब हर बार की तरह एग्जिट पोल फ्लॉप होंगे।

एग्जिट पोल में महागठबंधन के पूरी तरह फ्लॉप होने पर यूजर्स तंज भी कस रहे हैं। ट्विटर पर एक यूजर सुनील वर्मा ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार को निशाने पर लिया है। उन्हें टैग करते हुए वे लिखते हैं- क्या आप एग्जिट पोल देख रहे हैं सर? चुनाव नहीं लड़ने का आपका फैसला बहुत ही अच्छा रहा। सच दीवार पर लिखा हुआ साफ नजर आ रहा है। लेकिन मुझे आश्चर्य हो रहा है कि आप इसे पढ़ने के लिए तैयार नहीं हैं। इस पर जवाब देते हुए डॉ अजय कुमार ने उन्हें 23 मई का इंतजार करने को कहा है।

झामुमो के कुणाल षाडंगी ने एग्जिट पोल नतीजे पर टीवी पर छिड़ी बहस पर कटाक्ष करते हुए ट्वीट किया है। कहते हैं- खुद को चुनाव विश्लेषक घोषित किए लोग (इनमें से 99 फीसद ने अपने जीवन में कभी पंचायत चुनाव तक नहीं लड़ा) उस आकांक्षी क्रिकेटर की तरह हैं, जिसे कभी खेलने को नहीं मिला, लेकिन स्टूडियो में बैठे हैं और भाषण दे रहे हैं। इसलिए मैं 23 मई को एग्जिट पोल पर कमेंट करुंगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sujeet Kumar Suman