वायनाड केरल [संजय मिश्र]। केरल की वायनाड लोकसभा सीट से गुरुवार को नामांकन भरने जा रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस कदम से देश के दूसरे राज्यों में कांग्रेस की चुनावी सेहत कितनी तंदुरुस्त होगी, यह तो भविष्य के गर्भ में है। मगर केरल में वामपंथी खेमे में हड़कंप तो मचा ही दिया है। इसीलिए वामदलों ने नामांकन से पहले कांग्रेस अध्यक्ष पर अपना सियासी हमला और तेज कर दिया है। वामदलों के इस हमले से बेपरवाह पूरी केरल कांग्रेस राहुल के चुनाव लड़ने के उत्साह में वायनाड में राहुल के नामांकन को दमदार बनाने के लिए पहुंच गई है।

कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में ही नहीं, यहां के स्थानीय लोगों में भी राहुल की वजह से वायनाड को मिली प्रसिद्धि की चर्चा खूब गरम है। प्रियंका वाड्रा के राहुल के नामांकन के मौके पर मौजूद रहने की खबर ने कांग्रेसियों के उत्साह में और जोश भर दिया है। केरल कांग्रेस ने इस जोश को यादगार बनाने के लिए नामांकन से पहले राहुल गांधी के रोड शो के जरिये सूबे के सत्तारूढ़ वामपंथी गठबंधन एलडीएफ को पहले ही दिन वायनाड के संभावित नतीजे की झलक दिखाने की पूरी तैयारी कर ली है।

राहुल गांधी नामांकन के लिए बुधवार रात कोझीकोड पहुंच गए जहां एके एंटनी, केसी वेणुगोपाल, मुकुल वासनिक के साथ ओमेन चांडी, रमेश चेन्निथेला समेत सूबे के तमाम दिग्गज नेताओं के साथ चुनावी रणनीति पर बैठक हुई। कोझीकोड से सुबह हेलीकॉप्टर से राहुल और प्रियंका वायनाड जिले के मुख्यालय शहर केलपटृटा पहुंचेंगे। इसके बाद बस स्टैंड से सुबह 11 बजे राहुल का रोड शो शुरू होगा जो कलेक्टर कार्यालय तक जाएगा। राहुल रोड शो के बाद मुहूर्त के हिसाब से 11.30 बजे नामांकन भरने निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय जाएंगे। इसके बाद राहुल की प्रदेश कांग्रेस के तमाम नेताओं के साथ बैठक होगी। इसके उपरांत कांग्रेस अध्यक्ष अपने चुनाव- प्रचार की जिम्मेदारी स्थानीय नेताओं पर छोड़ दिल्ली लौट जाएंगे।

वायनाड लोकसभा सीट को राहुल ने 2019 के चुनावी अभियान के बीच दक्षिण भारत में कांग्रेस के सीटों का आंकड़ा बढ़ाने के मकसद से किया है। हालांकि भाजपा ने इस पर अमेठी की अपनी परंपरागत सीट पर हार के डर से यहां आने का तंज कसा है। वहीं, वामदलों ने नामांकन से ठीक एक दिन पहले राहुल गांधी के वायनाड से चुनाव लड़ने पर चौतरफा जमकर हमला बोला। राहुल के मुकाबले भाकपा उम्मीदवार पीपी सुनीर यहां से मैदान में हैं और वरिष्ठ पार्टी नेता डी. राजा यहां उनके प्रचार के लिए कैंप कर रहे हैं। डी. राजा कहते हैं राहुल को वायनाड से चुनाव लड़ाने का कांग्रेस का फैसला अदूरदर्शी ही नहीं बल्कि भाजपा की सांप्रदायिक सियासत के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करता है।

 

Posted By: Dhyanendra Singh