राज्य ब्यूरो, लखनऊ। पहली बार प्रियंका गांधी से मिला 55 वर्षीय महादीन अपने आसूं नहीं रोक पाया। सहजता से मिलने के लिए प्रियंका का आभार जताने के साथ महादीन प्रदेश के नेताओं के प्रति अपनी नाराजगी जताने से भी नहीं चूका। उसे शिकायत थी कि जिस सरल भाव से प्रियंका उससे मिलीं, प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं का बर्ताव उससे उलट है। कार्यालय के चक्कर लगाने के बावजूद बडे़ नेता आम कार्यकर्ताओं से मिलने से कतराते हैं।

ऐसी शिकायत करने वाला महादीन अकेला कांग्रेसी नहीं था। अमूमन सभी क्षेत्रों से आए कार्यकर्ताओं को कोई न कोई शिकायत जरूर थी। किसी को संगठन में उपेक्षा का शिकवा रहा तो किसी ने बाहरी नेताओं को जरूरत से ज्यादा महत्व देने पर एतराज जताया। गठबंधन न करके अकेले अपने दम पर चुनाव मैदान में उतरने का सुझाव भी अधिकतर नेताओं ने दिया। प्रियंका ने सबकी सुनी और संगठन मजबूत कर 2022 में कांग्रेस सरकार बनाने का दावा दोहराया।

तुम चुनाव जीतने में जुटो, संगठन हम दुरुस्त करेंगे

संगठन की कमी गिनाने वालों को प्रियंका गांधी ने एक ही मंत्र दिया। उनका कहना था कि अब चुनाव निकट है और उसमें कांग्रेस का बेहतर प्रदर्शन जरूरी है। आपसी मतभेद भुला कर प्रत्येक कार्यकर्ता चुनाव जिताने में जुटेगा तब ही कांग्रेस के अच्छे दिन आ सकेंगे। संगठन की कमजोरी स्वीकारते हुए उन्होंने संकेत दिए कि चुनाव बाद बड़े बदलाव होंगे।

लखनऊ से चुनाव लड़ने का प्रस्ताव मुस्कुरा कर टाला

लखनऊ क्षेत्र के नेताओं ने एकमत होकर प्रियंका गांधी को लखनऊ संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने का प्रस्ताव दिया जिसे मुस्कुरा कर टालते हुए प्रियंका ने कहा कि उनकी प्राथमिकता प्रदेश में कांग्रेस को मजबूत करना और 2022 में सरकार बनवाना है। उन्होंने संकेत दिया कि संगठन में बड़ी कमेटियां बनाने की परंपरा बंद की जाएगी। फ्रंटल संगठनों में समन्वय को बेहतर बनाने का काम होगा।

प्रभारी प्रियंका व सिंधिया में सीटों का बंटवारा

प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच लोकसभा क्षेत्रों के बंटवारे की अधिकृत सूची मंगलवार को जारी कर दी गयी। पश्चिमी क्षेत्र के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, नगीना, मुरादाबाद, रामपुर, संभल, अमरोहा, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, आगरा, फतेहपुर सीकरी, फीरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं, आंवला, बरेली, पीलीभीत, शाहजहांपुर, खीरी, सीतापुर, हरदोई, मिश्रिख, फर्रुखाबाद, इटावा, कन्नौज, कानपुर, अकबरपुर, बहराइच, श्रावस्ती क्षेत्र रहेंगे।

पूर्वी जिलों की प्रभारी प्रियंका गांधी लखनऊ के साथ उन्नाव, मोहनलालगंज, अमेठी, रायबरेली, सुलतानपुर, प्रतापगढ़, जालौन, झांसी, हमीरपुर, बांदा, फतेहपुर, कौशाम्बी, फूलपुर, इलाहाबाद, बाराबंकी, फैजाबाद, अम्बेडकरनगर, कैसरगंज, गोंडा, डुमरियागंज, बस्ती, संतकबीरनगर, महराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, लालगंज, आजमगढ़, घोसी, बलिया, जौनपुर, मछलीशहर, गाजीपुर, चंदौली, भदोही, मीरजापुर व राबर्ट्सगंज की प्रभारी होंगी। 

Posted By: Bhupendra Singh